जागरण संवाददाता, रामपुर : जिले में खाद खरीदने के लिए किसानों को अब डिजिटल भुगतान करना होगा। कृषि विभाग ने सभी फुटकर उर्वरक विक्रेताओं को इस संबंध में निर्देश जारी कर दिए हैं। इसका पालन नहीं करने वाले दुकानदार के खिलाफ कार्रवाई की चेतावनी भी दी गई है।

जिले के किसानों को अब खाद खरीदने के लिए जेब में पैसे रखने की आवश्यकता नहीं होगी। बस हाथ में स्मार्ट फोन हो और उसमें डिजिटल भुगतान से संबंधित एप डाउनलोड हो। इसके बाद वे किसी भी उर्वरक विक्रेता से डिजिटल भुगतान कर खाद खरीद सकेंगे। कैशलेस प्रणाली को बढ़ावा देने की दिशा में अब बैंकों के बाद कृषि विभाग भी आगे आ गया है। विभाग की ओर से जिले के सभी उर्वरक विक्रेताओं को डिजिटल सिस्टम से खाद की बिक्री करने को कहा गया है। इसके लिए दुकानदारों को अपनी दुकानों पर यूपीआइ क्यूआरकोड रखने होंगे। हालांकि इस नये नियम से किसानों को थोड़ी समस्या होगी। क्योंकि अधिकतर किसानों के पास स्मार्टफोन नहीं हैं। जिनके पास हैं भी उन्हें डिजिटल सिस्टम के विषय में पूरी जानकारी नहीं है।

जिला कृषि अधिकारी चंद्रगुप्त सागर के अनुसार निदेशालय से खाद की बिक्री डिजिटल भुगतान के माध्यम से करने के संबंध में निर्देश प्राप्त हुए हैं। जिसके अनुपालन में सभी खाद लाइसेंसियों को अवगत करा दिया गया है। उन्होंने बताया कि यदि कोई विक्रेता किसानों को डिजिटल पेमेंट से खाद देने को मना करता है तो इसकी शिकायत उनके कार्यालय में करें। उस पर कार्रवाई की जाएगी।

Indian T20 League

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप

kumbh-mela-2021