जागरण संवाददाता, स्वार : बिजली की आंख मिचौनी ने क्षेत्रवासियों की नाक में दम कर रखा है। जिसके चलते लोगों का बुरा हाल है। सबने जिलाधिकारी से शेडयूल के हिसाब से बिजली आपूर्ति दिलाए जाने की मांग की है।

नगर सहित ग्रामीण क्षेत्रों में बिजली के आने जाने का कोई समय निश्चित नहीं है। कभी लोकल फॉल्ट तो कभी जनरल ब्रेक डाउन से बिजली व्यवस्था डगमगा कर रह गई है। आपूर्ति ढंग से न मिलने के कारण लोगों का गर्मी में बुरा हाल है। दिन में बिजली न मिलना एवं देर रात में बिजली आने के बाद सुबह तक कई बार गायब होने का क्रम सप्ताह भर से जारी है। क्षेत्र के नरपतनगर, दूंदावाला, नानकार रानी, मीरापुर मीरगंज, समोदिया, मिलक काजी, गोविदपुरा, मिलक ताज खां, हमीरपुर, रायपुर चुन्नावाला, पुस्वाड़ा, मिलक खानम, रजानगर व डिलारी सहित दर्जनों गांवों में अंधाधुंध बिजली कटौती ने ग्रामीणों की नींद उड़ा दी है। लोगों को जाग कर रातें गुजारनी पड़ रही हैं। सबसे बुरा हाल छोटे-छोटे बच्चों का हो रहा है। सरकार ने नगर को बीस घंटे व ग्रामीण क्षेत्र को 18 घंटे आपूर्ति देने के सख्त निर्देश दिए हैं। इसके बावजूद स्थानीय स्तर पर विभाग द्वारा लोगों को शेड्यूल के अनुसार सप्लाई नहीं दी जा रही है। क्षेत्रवासी अमीर अहमद, सलामत जान, लियाकत अली, सलीम अहमद, फईम अहमद, मतलूब अहमद आदि ने पत्र लिख कर जिलाधिकारी से शेडयूल के हिसाब से बिजली आपूर्ति दिलाये जाने की मांग की है।

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप