रामपुर, जेएनएन। आचार संहिता उल्लंघन मामले में पूर्व मंत्री नवाब काजिम अली खां उर्फ नवेद मियां के खिलाफ आरोप तय हो गए। अब अगली सुनवाई 18 दिसंबर को होगी। 

2015 का है मामला 

आचार संहिता का यह मामला वर्ष 2015 का है, तब पंचायत चुनाव के चलते आचार संहिता लागू थी। नवेद मियां स्वार-टांडा विधानसभा क्षेत्र से विधायक थे। आरोप है कि चुनाव आचार संहिता के दौरान उन्होंने अपनी विधानसभा क्षेत्र के एक गांव में सीसी रोड का उद्घाटन किया था। इस पर उनके खिलाफ अजीमनगर थाने में आचार संहिता उल्लंघन का मुकदमा दर्ज कराया गया। मुकदमे में उनके खिलाफ अदालत में चार्जशीट दाखिल हो गई थी। उन्होंने मुकदमे में जमानत करा ली थी। बाद में शासन के आदेश पर जनप्रतिनिधियों के मुकदमों की सुनवाई हाईकोर्ट में होने लगी लेकिन, पिछला विधानसभा चुनाव हारने के बाद उनका मुकदमा वापस स्थानीय अदालत में सुनवाई के लिए आ गया। 

जारी हो गए थे गैर जमानती वारंट

यहां कुछ तारीखों पर लगातार कोर्ट में हाजिर न होने पर उनके खिलाफ गैर जमानती वारंट जारी हो गए थे। गुरुवार को षष्ठम अपर जिला जज के न्यायालय में मुकदमे की सुनवाई हुई। नवेद मियां कोर्ट पहुंचे और पिछली तारीखों में हाजिर न होने के संंबंध में सफाई दी। कोर्ट ने जवाब से संतुष्टि जताते हुए वारंट निरस्त कर दिए। 

 

Posted By: Narendra Kumar

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस