रायबरेली : पंजाब के बठिडा में थल सेना में तैनात सूबेदार का अचानक निधन हो गया। बताया गया कि दिल का दौरा पड़ने से ऐसा हुआ। इस खबर से क्षेत्र में शोक की लहर दौड़ गई है।

डलमऊ कोतवाली क्षेत्र के पूरे बनियानी मजरे सराय दिलावर निवासी अवधेश यादव थल सेना में हवलदार के पद पर तैनात थे। मंगलवार को ड्यूटी पर गए थे, तभी अचानक उनकी हालत बिगड़ने लगी। साथी जवानों ने उन्हें अस्पताल पहुंचाया, लेकिन तब तक उनकी मौत हो गई। अवधेश के साथ पत्नी अंकिता और बेटा अव्यांश भी रहता था। दुखद सूचना पत्नी ने परिवारजनों को दी। यह खबर मिलते ही परिवार में मातम छा गया। मां पुष्पा, पिता रामकुमार व भाई अरविद रो रोकर बेहाल हैं। अवधेश यादव मिलनसार स्वभाव के थे। उनकी सादगी के सभी कायल थे। उनकी मौत होने की सूचना से क्षेत्र में भी शोक की लहर दौड़ गई। पिता रामकुमार ने बताया कि सुबह बात हुई थी। सब ठीक था, लेकिन अचानक ड्यूटी के दौरान हालत बिगड़ी गई। चिकित्सकों ने हृदयगति रुकने से मौत होने की बात कही है। हफ्तेभर बाद घर आने का मां से किया था वादा

एक सप्ताह बाद बेटा घर आने वाला था, जिसको लेकर परिवारजन खुश थे। मंगलवार की सुबह मां से बात हुई। कुशलक्षेम पूछा, उसे क्या पता था कि बेटे की यह आवाज आखिरी है। अवदेश ने मां से एक सप्ताह बाद आने का वादा किया, सभी खुश थे, लेकिन कुछ घंटों के बाद अचानक आई खबर से परिवार पर दुखों का पहाड़ टूट पड़ा। आज गांव आएगा पार्थिव शरीर

अवधेश के पिता रामकुमार यादव ने बताया कि आज पार्थिव शरीर गांव आएगा। उसके बाद डलमऊ श्मशानघाट पर अंतिम संस्कार किया जाएगा।

Edited By: Jagran