रायबरेली : पूजा पंडालों में स्थापित दुर्गा प्रतिमाओं का भू-विसर्जन कराने की तैयारियां पूरी हो गई हैं। गंगा और सई नदी के चार प्रमुख घाटों पर सुरक्षा के माकूल इंतजाम किए गए हैं। पुलिस संग पीएसी जवानों की तैनाती रहेगी। पुलिस और प्रशासन के अधिकारी दिनभर भ्रमणशील रहेंगे। दशहरा मेला को लेकर भी एसपी ने मातहतों की जिम्मेदारियां तय कर दी हैं।

जनपद में करीब छह सौ जगह प्रतिमाएं स्थापित की गई हैं। इनका विसर्जन शुक्रवार को होगा। मुख्य रूप से डलमऊ, सरेनी के गेगासो, ऊंचाहार के गोकना गंगा तट और जिला मुख्यालय पर राजघाट के पास सई नदी के किनारे प्रतिमाओं का विसर्जन कराया जाएगा। इसके लिए पहले से ही गड्ढे खोद दिए गए हैं। नदी में विसर्जन पर पूर्णतया प्रतिबंध रहेगा। विसर्जन के लिए आने वाले श्रद्धालु नदी में स्नान भी करते हैं। इस दौरान कोई अनहोनी न होने पाए, इसके लिए गोताखोरों की ड्यूटी लगा दी गई। डलमऊ में एक कंपनी पीएसी के जवान नाव में बैठकर स्नानार्थियों की सुरक्षा का ध्यान रखेंगे।

एक या दो गाड़ियों से ही आएं श्रद्धालु

प्रतिमा विसर्जन के दौरान शारीरिक दूरी का अनुपालन कराना आसान नहीं है। पुलिस अफसरों ने लोगों से अपील की है कि वे एक या दो गाड़ियों से ही विसर्जन करने के लिए घाटों पर आएं। इससे यातायात व्यवस्था संभालने में भी आसानी रहेगी और ज्यादा भीड़ भी इकट्ठा नहीं होने पाएगी। दशहरा मेले में एंटी रोमियो स्क्वायड की तैनाती

जिला मुख्यालय के सुरजूपुर के अलावा सलोन और बछरावां में बड़े स्तर पर दशहरा मेला लगता है। इसके अलावा भी जनपद में करीब दो सौ स्थलों पर मेला लगना है। बड़े मेलों में स्थानीय पुलिस के साथ ही एंटी रोमियो स्क्वायड व शक्ति मोबाइल की टीमें भ्रमणशील रहेंगी। छोटे-छोटे आयोजनों के लिए दारोगा और सिपाहियों की ड्यूटी लगाई गई है। भारी वाहनों का बदला रूट

सीओ ट्रैफिक डा. अंजनी कुमार चतुर्वेदी ने बताया कि रायबरेली से लालगंज की ओर जाने वाले भारी वाहनों को डलमऊ होते हुए लालगंज भेजा जाएगा। लालगंज से रायबरेली आने वाले भारी वाहनों को वाया डलमऊ निकाला जाएगा। विसर्जन स्थलों के आसपास यातायात व्यवस्था के मद्देनजर ट्रैफिक पुलिस की तैनाती की गई है। --------------

नदी किनारे प्रतिमाओं का भू-विसर्जन कराया जाएगा। प्रशासन, नगर पालिका व नगर पंचायत के सहयोग से सभी तैयारियां पूरी कर ली गई हैं। पूजा समितियां ज्यादा भीड़ लेकर न आएं, ताकि सुरक्षित तरीके से विसर्जन सुनिश्चित कराया जा सके।

श्लोक कुमार, पुलिस अधीक्षक

Edited By: Jagran