रायबरेली : मेडिकल छात्र आदित्य हत्याकांड में संलिप्त एक अन्य आरोपित को पुलिस ने गिरफ्तार किया है। पुलिस ने दावा किया है कि वारदात के समय आरोपित आरके यादव स्कार्पियो चला रहा था।

एएसपी शशिशेखर सिंह ने पुलिस ऑफिस में प्रेस वार्ता कर बताया कि आदित्य हत्याकांड में आठवीं गिरफ्तारी रतापुर निवासी आरके यादव उर्फ रामकृष्ण यादव पुत्र मैकूलाल की हुई है। नौ अक्टूबर को वारदात वाली रात सफारी और स्कार्पियो से आदित्य का पीछा किया गया था। स्कार्पियो आरके चला रहा था। सफारी से आदित्य को ओवरटेक किया गया था और पीछे स्कार्पियो से उसे ठोकर मारी गई थी। इसकी पुष्टि फोरेंसिक जांच में हो चुकी है। गिरफ्तार आरोपितों से पूछताछ में आरके की सच्चाई सामने आ गई थी। मगर, जब सीसी फुटेज से इसकी पुष्टि हो गई तो उसे हरचंदपुर पुलिस ने पीजीआइ लखनऊ के पास से गिरफ्तार कर लिया। उसने भी यह बात कबूल की है कि उस रात मृतक और उसके दोस्तों के साथ ढाबे पर मारपीट की गई थी। फिर हमारे लोगों ने आदित्य का पीछा करके वारदात अंजाम दी। पुलिस ने स्कार्पियो पहले ही जब्त कर ली थी, जोकि आरके के नाम है। उन्होंने कहा कि वारदात में शामिल फरार अन्य की गिरफ्तारी के प्रयास किए जा रहे हैं।

बता दें कि महराजगंज के सिकंदरपुर निवासी डी फार्मा छात्र आदित्य सिंह की नौ अक्टूबर की रात बेरहमी से हत्या कर दी गई थी। दस अक्टूबर की सुबह उसका शव महराजगंज रोड पर गढी खास के पास मिला था। जिसमें सोमू ढाबा मालिक सुरेश यादव को मुख्य आरोपित बनाते हुए मुकदमा दर्ज कराया गया था। सुरेश अभी जेल में है। आरके उसका सबसे खास आदमी बताया जाता है।

बाकी की गिरफ्तारी का इंतजार

पुलिस द्वारा इस मामले में अब तक आठ गिरफ्तारियां की जा चुकी हैं। लेकिन आदित्य के परिवारजन अभी संतुष्ट नहीं है। उनका कहना है कि वारदात में जितने लोग शामिल थे, सभी की गिरफ्तारी होनी चाहिए। ऐसा नहीं होने पर वह मुख्यमंत्री आवास के सामने भूख हड़ताल पर बैठ जाएंगे। इस मामले में कुल 13 लोगों की संलिप्तता की बात सामने आई है।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस