डीएम ने जीआइसी डीह प्रधानाचार्य का रोका वेतन

रायबरेली : जिलाधिकारी की अध्यक्षता में बचत भवन सभागार में स्टूडेंट पुलिस कैडेट (एसपीसी) प्रोग्राम के प्रभावी क्रियान्वयन के के लिए अनुश्रवण समिति की बैठक हुई। डीएम ने लापरवाही पर जीआइसी डीह प्रधानाचार्य के वेतन रोकने और स्पष्टीकरण मांगने के निर्देश डीआइओएस को दिए। जिलाधिकारी माला श्रीवास्तव ने नोडल अधिकारी एसपीसी सीओ सीटी वंदना सिंह और जिला विद्यालय निरीक्षक ओमकार राणा के साथ चयनित 45 विद्यालयों के प्रधानाचार्यों और बच्चों को पुलिस द्वारा किये गये कार्यों के बारे में जानकारी ली। जिलाधिकारी ने स्पष्ट जानकारियों को कमेटी को उपलब्ध न कराने पर जीआइसी डीह प्रधानाचार्य एवं नोडल माध्यमिक एसपीसी डा. रजनीश प्रकाश तिवारी का स्पष्टीकरण प्राप्त और वेतन रोकने के लिए डीआइओएस को निर्देश दिए। पुलिस अधीक्षक आलोक प्रियदर्शी, अपर पुलिस अधीक्षक विश्वजीत श्रीवास्तव, नगर मजिस्ट्रेट पल्लवी मिश्रा, डीआइओएस ओमकार राणा, बीएसए शिवेंद्र प्रताप सिंह आदि मौजूद रहे। कानून व्यवस्था में सुधार के लिए उठाएं कदम डीएम ने अपराध, कानून व्यवस्था, अभियोजन कार्यो को लेकर सभी उप जिलाधिकारियों, पुलिस क्षेत्राधिकारी व थानाध्यक्षों के साथ बैठक की। साथ ही भूमि विवाद निस्तारण, आपसी रंजिश, अपराध रोकथाम, विवेचना निस्तारण, अपराधियों पर प्रभावी अंकुश लगाने हेतु पाबंदी कार्रवाई सहित कानून व्यवस्था में सुधार के लिए उचित कदम उठाने की बात कही। उन्होंने जनपद में अवैध शराब के विरुद्ध संयुक्त रूप से अभियान चलाकर कार्रवाई करने के निर्देश दिए। सात और 21 अगस्त को विशेष कैंप भारत निर्वाचन आयोग के निर्देशानुसार विधानसभा निर्वाचक नामावली में सम्मिलित मतदाताओं से स्वैच्छिक रूप से आधार नंबर एकत्र किए जाने की कार्यवाही एक अगस्त से प्रारंभ की जा रही है। विधानसभा निर्वाचक नामावली में शामिल मतदाताओं को आधार नंबर दिए जाने के लिए आफलाइन और आनलाइन सुविधाएं प्रदान की गई है। आनलाइन फार्म-6बी बीएलओ द्वारा घर-घर स्वेच्छा से मतदाताओं से एकत्र किए जाएंगे। इसके अलावा सात अगस्त और 21 अगस्त को विशेष कैंप लगाया जाएगा।

Edited By: Jagran