Move to Jagran APP

'भाजपा ने प्रभु श्रीराम का अपमान किया...', संजय सिंह ने लगाए गंभीर आरोप; कहा- अहंकार तो रावण का भी नहीं बचा

आम आदमी पार्टी के नेता संजय सिंह ने भाजपा पर निशाना साधते हुए अयोध्या की हार की वजह बता दी। संजय सिंह ने कहा कि भाजपा ने प्रभु श्रीराम का अपमान किया इसिलए वहां की जनता ने भाजपा को नकार दिया। अयोध्या में एक दलित सांसद निर्वाचित होना भाजपा को बर्दाश्त नहीं है इसलिए भाजपाई अयोध्या के चुनावी परिणाम पर वहां की जनता को गाली दे रहे हैं।

By Jagran News Edited By: Aysha Sheikh Published: Sun, 09 Jun 2024 04:05 PM (IST)Updated: Sun, 09 Jun 2024 04:05 PM (IST)
'भाजपा ने प्रभु श्रीराम का अपमान किया...', संजय सिंह ने लगाए गंभीर आरोप

जागरण संवाददाता, प्रयागराज। आम आदमी पार्टी के नेता संजय सिंह ने भाजपा पर निशाना साधते हुए अयोध्या की हार की वजह बता दी। संजय सिंह ने कहा कि भाजपा ने प्रभु श्रीराम का अपमान किया, इसिलए वहां की जनता ने भाजपा को नकार दिया। अयोध्या में एक दलित  सांसद निर्वाचित होना भाजपा को बर्दाश्त नहीं है इसलिए भाजपाई  अयोध्या के चुनावी परिणाम पर वहां की जनता को गाली दे रहे हैं।

कहा कि मोदी के नेतृत्व वाली भारत सरकार ने सभी जांच एजेंसियों का जमकर दुरुपयोग किया, मुख्यमंत्रियों को जेल भेजा, इसलिए जनादेश उनके खिलाफ आया। संजय सिंह ने यह भी कहा कि मोदी स्वयं को अवतारी पुरुष कहलाना पसंद करते हैं यह अहंकार है, अहंकार तो रावण का भी नहीं बचा।

इलाहाबाद विश्वविद्यालय के छात्रों पर संजय सिंह ने जुल्म ज्यादती का आरोप लगाया। कहा कि योगी सरकार ने 1000 से अधिक छात्रों पर मुकदमा लिखाया, सात छात्रों पर गुंडा एक्ट लगाकर उन्हें जिला छोड़ने का फरमान पुलिस ने दिया है, पूछा कि क्या छात्र यहां गुंडे हैं?

सरकार पर ये आरोप भी लगाए

परीक्षाओं के पेपर लीक, नीट परीक्षा में बड़ी घपलेबाजी का सरकार पर सीधा आरोप लगाया। कहा कि आम आदमी पार्टी 11 जून को उत्तर प्रदेश में बड़ा जनांदोलन करेगी। कहा कि आज देश का नौजवान पेपर लीक का मारा हो गया है। पेपर लीक से डेढ़ साल में देश मे डेढ़ करोड़ युवाओं का जीवन बर्बाद हैं जिनमें 60 लाख तो केवल उत्तर प्रदेश से हैं।

कहा कि लोकसभा का स्पीकर भाजपा का बना तो तीन खतरे होंगे। मोदी सरकार छोटे छोटे दलों के सांसदों को तोड़ लेगी। मनमानी करते हुए अनाप शनाप बिल पास कराए जाएंगे और सांसदों का मनमानी तरीके से निलंबन होगा।


This website uses cookies or similar technologies to enhance your browsing experience and provide personalized recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.