Move to Jagran APP

यूपी में नए लेखपालों को बड़ी राहत, सुप्रीम कोर्ट ने जारी किए ये निर्देश; दोबारा ग्रहण करेंगे कार्यभार

UP News उत्तर प्रदेश में नए भर्ती हुए लेखपालों को सुप्रीम कोर्ट से बड़ी राहत मिली है। इन लेखपालों की परीक्षा उत्तीर्ण करने के बाद नियुक्ति हो चुकी थी लेकिन कुछ प्रश्नों को बवाल हुआ और इनकी नियुक्ति पर रोक लगा दी गई। मामला सुप्रीम कोर्ट पहुंचा तो कोर्ट ने रोक हटाते हुए लेखपालों को नियुक्त करने का निर्देश जारी किया।

By GYANENDRA SINGH1 Edited By: Abhishek Pandey Tue, 09 Jul 2024 01:38 PM (IST)
यूपी में नए लेखपालों को बड़ी राहत, सुप्रीम कोर्ट ने जारी किए ये निर्देश; दोबारा ग्रहण करेंगे कार्यभार
सुप्रीम कोर्ट की फाइल फोटो ( इमेज क्रेडिट- जागरण)

जागरण संवाददाता, प्रयागराज। नए भर्ती हुए लेखपालों को सुप्रीम राहत मिल गई है। परीक्षा उत्तीर्ण करने के बाद इनकी नियुक्ति हो चुकी थी मगर कुछ प्रश्नों को लेकर नियुक्ति पर रोक लग गई थी। लेखपाल संघ के जिलाध्यक्ष राजकुमार सागर ने बताया कि यह प्रकरण सुप्रीम कोर्ट पहुंच गया था। शीर्ष कोर्ट ने सोमवार को रोक हटाते हुए इन लेखपालों को नियुक्त करने का निर्देश जारी कर दिया।

पिछले वर्ष लेखपालों की परीक्षा हुई थी। फरवरी में इसका परिणाम आया। जिले को 242 नए लेखपाल मिले, जिसमें ज्यादातर ने ज्वाइनिंग भी कर ली थी। किसी वजह से 30 लेखपालों की ज्वाइनिंग बच गई थी।

सुप्रीम कोर्ट के आदेश के बाद लेखपालों को किया गया नियुक्त

लेखपाल संघ के जिलाध्यक्ष ने बताया कि अदालत से स्टे मिलने के बाद प्रदेश सरकार के साथ ही नए लेखपालों ने सुप्रीम कोर्ट में जबरदस्त पैरवी की। सुप्रीम आदेश के बाद अब इन लेखपालों को नियुक्त किया जाएगा।

मुख्य राजस्व अधिकारी कुंवर पंकज ने बताया कि इन लेखपालों की नियुक्ति मंगलवार से शुरू होगी। लखनऊ में बुधवार को प्रस्तावित कार्यक्रम में प्रयागराज के पांच लेखपालों को मुख्यमंत्री के हाथों नियुक्ति पत्र दिया जाएगा।

बताया जाता है कि जिले में लेखपालों की संख्या काफी कम थी। अभी जिले में कुल लगभग 350 लेखपाल हैं। नए लेखपालों के मिलने से संख्या लगभग 600 हो जाएगी। इससे अब राजस्व विभाग के कार्यों में और तेजी आएगी। आमजन को इसका सीधा लाभ मिल सकेगा। उन्हें खतौनी से लेकर पैमाइश आदि के लिए तहसीलों के चक्कर नहीं लगाने पड़ेंगे।

इसे भी पढ़ें: यूपी के इस जिले में हुआ जमीन के बदले जमीन घोटाला; लेखपाल ने पिता के नाम कराया था बैनामा, डीएम ने किया निलंबित