जासं, प्रतापगढ़ : प्रदेश सरकार ईको पर्यटन पर काम कर रही है। इस साल सूबे में 25 करोड़ पौधे रोपने का लक्ष्य है। इसके साथ ही जीव जंतुओं के संरक्षण और उनके प्रति सकारात्मक सोच विकसित करने के लिए भी काम हो रहा है। इस दिशा में गोरखपुर में 250 करोड़ की लागत से राष्ट्रीय प्राणि उद्यान यानि चिड़ियाघर बनाया जाएगा।

यह बात योगी सरकार के वन मंत्री दारा सिंह चौहान ने कही। बुधवार को करमाही में मंत्री महेंद्र सिंह के यहां आयोजित कार्यक्रम में पत्रकारों से बातचीत में मंत्री ने कहा कि करतनिया, चूका झीलों का सुंदरीकरण कराया जा रहा है। यहां पर घड़ियाल अभी भी हैं। इसके जरिए पर्यावरण संरक्षण को बढ़ावा भी मिल रहा है। प्रतापगढ़ में अजगर और तेंदुआ पाए जाने को लेकर हुए सवाल पर वन मंत्री दारा सिंह ने कहा कि इस बारे में वन्य जीव विशेषज्ञों की विशेष टीम भेजकर सर्वे कराया जाएगा। अगर टीम ने सुझाव दिया तो यहां प्राकृतिक आवास का विकास कर अजगर का संरक्षण किया जाएगा। उन्होंने यह भी बताया कि प्रदेश में सर्पशाला के निर्माण का भी प्रस्ताव है, जहां पर विभिन्न सापों को रखा जाएगा। लोग उसे देख सकेंगे और पढ़ने वाले विद्यार्थी जानकारी भी पा सकेंगे। मंत्री ने बताया कि प्रदेश में बड़े पैमाने पर पौधरोपण होने से हरित क्षेत्र तीन साल में 6.7 से बढ़कर नौ फीसद हो गया है। इसे दो साल में 15 फीसद तक पहुंचाने का लक्ष्य है।

इंडियन टी20 लीग

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस