संसू, गोतनी : सुजौली खखरा गांव में संदिग्ध दशा में हुए युवक की मौत से आक्रोशित परिजनों समेत ग्रामीणों ने मंगलवार को सुबह पूरेधनऊ चौराहे पर शव रखकर रास्ता जाम कर दिया। आक्रोशित लोग हत्या का मुकदमा दर्ज करके आरोपितों की गिरफ्तारी, आर्थिक मदद की मांग कर रहे थे। एसडीएम व सीओ के आश्वासन के बाद लगभग सवा दो घंटे बाद जाम समाप्त हो सका।

कुंडा कोतवाली क्षेत्र के सुजौली खखरा गांव निवासी मुलायम यादव उर्फ रामभवन (22) पुत्र संतराम रविवार की शाम घर से शौच के लिए निकला था। इसके बाद वह घर नहीं लौटा था। सोमवार की सुबह उसका शव मंगरू की बाग में पेड़ पर फांसी के फंदे से लटका हुआ मिला था। घटनास्थल पर पहुंची पुलिस से परिजनों ने हत्या की आशंका जताई थी। पोस्टमार्टम के बाद सोमवार की शाम शव घर लाया गया था। शाम होने के कारण अंतिम संस्कार नहीं हो सका था।

इस बीच मंगलवार की सुबह लगभग सवा नौ बजे परिजन ग्रामीणों के साथ शव लेकर मानिकपुर थाना क्षेत्र के पूरे धनऊ चौराहा पहुंच गए और कुंडा-गोतनी मार्ग पर शव रखकर जाम लगा दिया। इस दौरान आक्रोशित लोगों ने कुंडा पुलिस के खिलाफ जमकर नारेबाजी की। सूचना मिलने पर पहुंचे हल्का दारोगा मुसाफिर यादव ने आक्रोशित लोगों को समझाने का प्रयास किया, लेकिन महिलाओं ने हत्यारोपितों से पुलिस की मिलीभगत होने का आरोप लगाते हुए खूब खरी खोटी सुनाई। इसके बाद वह किनारे जाकर खड़े हो गए और मामले की सूचना उच्चाधिकारियों को दी।

सूचना मिलने पर एसओ मानिकपुर सुरेश सैनी, कोतवाल कुंडा अभय श्रीवास्तव, एसओ हथिगवां बीके शुक्ला, एसओ नवाबगंज अनिरुद्ध ¨सह मौके पर पहुंचे और लोगों को समझाने का प्रयास किया, लेकिन लोग कुछ मानने को तैयार नहीं थे। लगभग दो घंटे बाद एसडीएम कुंडा आरपी वर्मा व सीओ राधेश्याम भी मौके पर पहुंचे। परिजनों ने अफसरों से कहा कि मुलायम यादव की हत्या की गई है, लेकिन पुलिस मुकदमा नहीं दर्ज कर रही है। ऐसे में तत्काल हत्या का मुकदमा दर्ज करके आरोपितों की गिरफ्तारी और पीड़ित परिवार को आर्थिक मदद दी जाए। एसडीएम व सीओ ने मांगे पूरी कराने का आश्वासन दिया। इसके बाद जाम समाप्त हो सका।

Posted By: Jagran