संसू, प्रतापगढ़ : शहर के बाबागंज स्थित एक होटल में रुके साड़ी व्यवसायी की संदिग्ध मौत हो गई। उनका शव कमरे में नायलॉन की रस्सी से लटकता मिला। प्रथम ²ष्टया पुलिस ने आत्महत्या का मामला मानते हुए शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया।

मीरजापुर जिले के महुअरिया थाना क्षेत्र के पक्काघाट मोहल्ले में दाऊजी के मंदिर के पास रहने वाले ध्रुवदास अग्रवाल (54) पुत्र स्वर्गीय मोहनलाल वहीं मीरजापुर में साड़ी का व्यवसाय करते थे। वह 29 अगस्त से शहर के बाबागंज मोहल्ले में स्थित होटल के कमरा नंबर 206 में ठहरे थे। बुधवार को दिन भर उनका कमरा नहीं खुला। शाम लगभग पांच बजे उनके कमरे से दुर्गंध उठने लगी। फौरन मैनेजर ने इसकी जानकारी मालिक को दी।

इसके बाद मास्टर चाबी से कमरा खोला गया तो देखा कि गेट पर ही ध्रुवदास का शव नायलॉन की रस्सी के बने फंदे से लटक रहा था। दोनों पैर फर्श को छू रहा था। घटना की जानकारी मिलने पर कोतवाल सुरेंद्रनाथ, सीओ सिटी अतुल शर्मा, एएसपी पूर्वी सुरेंद्र प्रसाद द्विवेदी फौरन घटनास्थल पर पहुंचे। पुलिस के पहुंचने के बाद शव को फंदे से नीचे उतारा गया।

सीओ सिटी, एएसपी ने होटल के रजिस्टर को कब्जे में लेते हुए मैनेजर और मालिक से पूछताछ की। मैनेजर ने बताया कि मंगलवार को दिन में लगभग 11 बजे ध्रुवदास ने लंच किया था। वह रोज लक्ष्मी नारायण मंदिर दर्शन करने जाते थे। होटल में रुकने का मकसद भी यही दर्ज कराया था। थोड़ी देर बाद ध्रुवदास की पत्नी अंजू भागकर होटल पहुंची। पुलिस को पूछताछ में पता चला कि वह चार साल से पति से अलग होकर यहां शिवजीपुरम मोहल्ले में किराए के मकान में रहती हैं। इस बारे में सीओ सिटी अतुल शर्मा का कहना है कि प्रथम ²ष्टया मामला आत्महत्या का लग रहा है। फिलहाल घटना की जांच की जा रही है।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप