संसू, प्रतापगढ़ : बवालियों भाग जाओ-भाग जाओ की आवाज सुनने के साथ गोलियों की तड़तड़ाहट से लोग चौंक गए। केपी कालेज रोड से गुजर रहे रुक कर पुलिस लाइन की ओर देखने लगे। बाद में पता चला कि पुलिस दंगा नियंत्रण ड्रिल कर रही है।

अयोध्या मसले में बहस पूरी होने के बाद सुप्रीम कोर्ट से किसी भी दिन फैसला आ सकता है। इसे लेकर पुलिस अलर्ट हो गई है। इसी कड़ी में रविवार को सुबह पुलिस लाइन में एएसपी पश्चिमी दिनेश कुमार द्विवेदी की अगुवाई में दंगा नियंत्रण ड्रिल की गई। अभ्यास के लिए सभी एसओ, उनके हमराही, थाने के दारोगा, दमकल कर्मी बुलाए गए थे। दंगा नियंत्रण के लिए की जाने वाली कार्रवाईयों के बारे में बताने के बाद एएसपी ने ड्रिल शुरू कराया।

अचानक यह आवाज सुनाई देने लगी-बवालियों भाग जाओ-भाग जाओ, नहीं तो बल प्रयोग किया जाएगा। इसके बाद रबर बुलेट से फायर शुरू कर दिया गया। गोलियों की तड़तड़ाहट सुनकर किसी घटना के होने की आशंका से लोग चौंक गए। राजापाल टंकी से केपी कालेज रोड पर गुजर रहे लोग रुक गए और पुलिस का दंगा नियंत्रण ड्रिल देखने लगे। करीब तीन घंटे तक ड्रिल चली। टियर गैस गन से फायर किया गया। इससे पुलिस लाइन में धुएं का गुबार छा गया। इस दौरान बवाली बने सिपाहियों पर दमकल से पानी की बौछार की गई। एसपी अभिषेक सिंह ने बताया कि सुप्रीम कोर्ट के आने वाले फैसले को लेकर पूरी सतर्कता बरती जा रही है। इसी क्रम में रविवार को पुलिस लाइन में दंगा नियंत्रण ड्रिल कराई गई।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप