प्रतापगढ़ : जाम से निजात दिलाने के लिए शहर के चौक-राजापाल टंकी मार्ग पर लागू की गई वन-वे ट्रैफिक व्यवस्था ध्वस्त हो गई है। ऐसे में जहां जाम से लोगों को दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है, वहीं दिन में एंबुलेंस के जाम में फंसने से कई बार मरीजों का जीवन संकट में पड़ जाता है।

शहर में इस समय दिन में चारों ओर जाम लग रहा है। चाहे वह चौक-राजापाल टंकी मार्ग हो या सदर मोड़-भंगवा चुंगी मार्ग, ट्रेजरी चौराहा-चुंगी मार्ग। हर रोड पर दिन में लोगों को जाम से जूझना पड़ रहा है। चौक-राजापाल टंकी मार्ग पर जाम से निजात दिलाने के लिए तत्कालीन सीओ सिटी अतुल शर्मा ने वनवे ट्रैफिक नियम लागू किया था। क्योंकि इस मार्ग पर जिला अस्पताल व जिला महिला अस्पताल है। आए दिन अस्पताल गेट पर जाम लगने से एंबुलेंस फंस जाती थी।

इस नियम को प्रभावी रूप से लागू करने के लिए राजापाल टंकी चौराहा व चौक घंटाघर पर होमगार्डों की शिफ्टवार ड्यूटी लगाई जाती थी। श्रीराम तिराहे पर बैरियर लगाकर ई-रिक्शा का प्रवेश पंजाबी मार्केट में रोक दिया गया था। करीब महीने भर तक यह व्यवस्था प्रभावी रूप से लागू रही, जिससे लोगों को जाम से राहत मिली थी। समय के साथ यह व्यवस्था ढीली पड़ गई। श्रीराम तिराहे पर लगे बैरियर को हटा दिया गया। तिराहे पर लगे होमगार्ड भी गायब हो गए।

इस समय चौक-राजापाल टंकी मार्ग पर वन-वे ट्रैफिक व्यवस्था पूरी तरह ध्वस्त हो गई है। इससे फिर लोग दिन भर जाम से जूझ रहे हैं। सोमवार को दोपहर जिला अस्पताल गेट पर लंबा जाम लगा था। जाम में कई वाहन फंसे थे। इस पर अस्पताल चौकी के सिपाही भागकर पहुंचे और ठेला दुकानदारों व ई-रिक्शा चालकों को डांट फटकार कर जाम को हटाया। महिला अस्पताल के पास दोपहर करीब ढाई बजे एक फल दुकानदार ने सड़क पर ठेला लगा रखा था, जिससे जाम लग गया था। मौके पर पहुंचे अस्पताल चौकी इंचार्ज युनुस खान ने ठेला दुकानदार को जमकर फटकार लगाई। इसके बाद उसने ठेला हटाया तो आवागमन बहाल हो सका।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप