प्रतापगढ़ : करोड़ों की लागत से बनकर तैयार सदर का ट्रामा सेंटर टूट सकता है। इसका आधे से ज्यादा हिस्सा प्रस्तावित बाईपास के दायरे में आ रहा है। इस वजह से इस इमारत पर संकट नजर आ रहा है। हालांकि विभाग इसे बचाने की कोशिश कर रहा है।

सदर क्षेत्र के लिए मंजूर ट्रामा सेंटर शहर से करीब पांच किलो दूर गायघाट रोड पर पूरे केशवराय गांव में बनाया गया है। दो साल तक इसका निर्माण चला, अब पूरा हुआ। दो सौ बेड का यह ट्रामा सेंटर शुरू से ही बाधा के भंवर में रहा। कई महीने इसके लिए जमीन नहीं मिल पाई। जब मिली तो दो भाग में। उसे एक किया गया तो रास्ते का झाम फंस गया। किसी तरह डीएम के हस्तक्षेप से राजस्व विभाग ने रास्ता दिया। भवन बनकर तैयार हो गया। लोगों को इससे लाभ मिलने की उम्मीद जगी। नगर के पास यही एक ट्रामा सेंटर है, लेकिन उद्घाटन से पहले ही इस पर फिर संकट के बादल मंडराने लगे हैं।

मामला यह है कि सदर के गोड़े गांव से पूरे केशवराय होते हुए मोहनगंज तक बाईपास बनना है। इसकी जमीन का नक्शा बन चुका है। किसानों के लिए मंजूर मुआवजा भी आ चुका है, लेकिन प्रशासनिक ढिलाई से काम आगे नहीं बढ़ पा रहा है। इस वजह से नगर में भारी वाहनों के कारण जाम लगता है। अब एनएच के अफसरों ने यह कहकर प्रशासन की चिता बढ़ा दी है कि ट्रामा सेंटर बाईपास के दायरे में आ रहा है। आधा हिस्सा तोड़ना होगा। इसको लेकर डीएम स्तर से राजमार्ग प्राधिकरण से वार्ता की गई है कि कोई विकल्प खोजा जाए। स्वास्थ्य विभाग भी प्रयास में लगा है। हालांकि प्रशासन का दावा है कि इसे बचा लिया जाएगा, पर यह तो आने वाला वक्त ही बताएगा। सीएमओ डा. एके श्रीवास्तव का कहना है कि बाईपास को ट्रामा सेंटर के पास थोड़ा घुमाने का प्रस्ताव एनएच को भेजा गया है। उम्मीद है कि इस पर बात बन जाएगी।

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप

budget2021