प्रतापगढ़ : वाहनों में अब हाई सिक्योरिटी नंबर प्लेट लगवाने को लेकर जिले के करीब सवा लाख लोग सजग नहीं हुए हैं। परिवहन विभाग एक नवंबर से इसकी चेकिग करेगा। नए ही नहीं पुराने वाहनों में भी इस प्लेट के न लगे होने पर जुर्माना की कार्रवाई हो सकती है।

केंद्रीय परिवहन मंत्रालय ने वाहनों पर हाई सिक्योरिटी नंबर प्लेट लगवाना अनिवार्य कर दिया है। जो लोग इसकी अनदेखी करेंगे उनको सड़क पर चलते वक्त परेशानी हो सकती है। इसके साथ ही वह हजारों पेंटर व रेडियम कारीगर बेकार हो जाएंगे जो अपने अंदाज में प्लेट बनाते हैं। नए तरह की हाई सिक्योरिटी नंबर प्लेट के बारे में जिले के बहुत से लोग जानते ही नहीं। कामर्शियल वाहनों को तो फिटनेस के लिए एआरटीओ कार्यालय ले जाना पड़ता है, जिससे उनमें अधिकांश में नई प्लेट लग गई है। कार, बाइक, स्कूटी, रखने वाले बहुत से लोग अभी नई प्लेट लगवाने से कतरा रहे हैं। यही वजह है कि इनको अगले महीने से समस्या होगी। यह प्लेट बड़े काम की है। वाहन चोरी होने, दुर्घटना होने की स्थिति में भी यह उपयोगी साबित होगी। गाड़ी का पूरा विवरण मिल जाएगा। इसलिए सबको इसे लगवाना चाहिए। इसकी बुकिग साइबर सेंटर से कराई जा सकती है। मनपसंद वाहन एजेंसी पर विभाग प्लेट भेजेगा और आसानी से लग जाएगी। एआरटीओ सुशील कुमार मिश्र का कहना है कि अगर वाहन पुराना है तो भी हाई सिक्योरिटी नंबर प्लेट लगवानी चाहिए। सरकार के निर्देश पर एक अप्रैल 2019 के बाद से बिक रहे हर वाहन में ही हाई सिक्योरिटी नंबर प्लेट लग रही है, लेकिन इसके पहले के वाहनों में नहीं लगी। इसमें भी लगवाना होगा।

--

जागरूकता की पहल

परिवहन विभाग ने हाई सिक्योरिटी नंबर प्लेट की उपयोगिता को लेकर जागरूकता की पहल भी की। सड़क सुरक्षा सप्ताह में यह बिदु भी प्रमुखता से रखा गया था। इसके बाद भी लोगों ने इसे महत्व कम दिया।

Edited By: Jagran