प्रतापगढ़ : चिलबिला स्थित राजकीय पॉलिटेक्निक कालेज में गुरुवार को भूजल सप्ताह का समापन हुआ। इस दौरान हुई गोष्ठी में प्रधानाचार्य बीएल सिंह ने कहा कि भूजल संरक्षण के लिए सभी को जागरूक होना होगा। विभिन्न स्तरों पर भूजल की मात्रा व गुणवत्ता के संरक्षण की आवश्यकता है। इसके लिए भूजल के दोहन की सीमा, वर्तमान जलभरों को रिचार्ज करना, प्रदूषित सीवेज और औद्योगिक कचरों द्वारा हो रहे प्रदूषित जल को रोकने की जरूरत है। इस अवसर पर लेफ्टिनेंट सुनील कुमार, अमित कुमार, संदीप प्रजापति, जय शंकर तिवारी, संजय कुमार, राजकुमार, सुषमा मौजूद रहीं। कुंडा प्रतिनिधि के अनुसार भूजल सप्ताह के समापन अवसर पर सीएचसी कुंडा के परिसर में पौधा रोपण किया गया। इस अवसर पर सीएचसी अधीक्षक डा. राजीव त्रिपाठी,पर्यावरण सेना प्रमुख अजय क्रांतिकारी, डा. रोहित सिंह, अनिल वर्मा, कौशल मौर्य, सुनील तिवारी, रामचंद्र तिवारी, मान सिंह यादव आदि उपस्थित रहे।

यातायात नियमों को जानने से रुकेंगे हादसे: परिवहन विभाग और यातायात पुलिस द्वारा संयुक्त रूप से सड़क सुरक्षा सप्ताह चलाया जाएगा। इसकी शुरुआत गुरुवार को सदर विधायक राजकुमार पाल ने एआरटीओ कार्यालय से की। उन्होंने जागरूकता वाहन को हरी झंडी दिखाकर रवाना किया। वहां वाहन चालकों को यातायात नियमों का पालन करने का सुझाव भी दिया गया।इस मौके पर विधायक ने कहा कि जनमानस को यातायात नियमों के प्रति जागरूक किए जाने की जरूरत है। लोग सजग होंगे तो हादसे कम होंगे। एआरटीओ सुशील कुमार मिश्रा ने कहा कि जितने लोग कोरोना महामारी से नहीं मरे, उससे अधिक सड़क दुर्घटना में मरते रहते हैं। यह दुखद है। सड़क सुरक्षा सप्ताह का अभियान 28 जुलाई तक चलेगा। रोडवेज के एआरएम पीके कटियार, टीएसआइ नरेंद्र सिंह, यात्री कर अधिकारी दिनेश शर्मा, आरआइ रंजीत सिंह, ब्रह्मा शंकर दुबे,एससआइ बाल किशुन, सर्वेश्वर उपाध्याय, राहुल कुमार, मनोज कुमार, श्याम लाल अंजनी सिंह, मनीष सिंह, विनय जायसवाल, निहाल सिंह सहित लोग मौजूद रहे।