प्रतापगढ़ : दशहरा के त्यौहार पर सुरक्षा और शांति व्यवस्था को लेकर शहर से लेकर कस्बों में भारी तादाद में फोर्स मुस्तैद रहेगी। दुर्गा प्रतिमाओं के विसर्जन के मद्देनजर नदी के घाटों पर फोर्स तैनात रहेगी।

प्रमुख पर्व दशहरा शुक्रवार को है। दशहरा के दिन शहर के रामलीला मैदान पर भगवान राम व रावण का युद्ध होता है। वहीं पर रावण के पुतले का दहन किया जाता है। राम-रावण का युद्ध देखने के लिए सैकड़ों की संख्या में लोग रामलीला मैदान पहुंचते है। साथ रामलीला मैदान में लगे मेले, सर्कस, झूले का भी लुत्फ उठाते हैं। ऐसे में सुरक्षा को लेकर व्यापक प्रबंध किया जाता है। कोतवाली और चौकी की फोर्स के अलावा शहर मे 12 इंस्पेक्टर, 100 दारोगा, 200 सिपाही व एक कंपनी मुस्तैद रहेगी। इसके अलावा रामलीला मैदान में दमकल कर्मी, खुफिया पुलिस तैनात रहेगी। कोतवाली व चौकी की फोर्स अपने-अपने इलाके में मोबाइल रहेगी। एसपी सतपाल अंतिल ने बताया कि दशहरा का मेला और मां दुर्गा की प्रतिमाओं के विसर्जन के मद्देनजर शहर, पूरे जिले और नदी के घाटों पर पर्याप्त संख्या में फोर्स तैनात रहेगी।

रानीगंज प्रतिनिधि के अनुसार सीओ रानीगंज डॉक्टर अतुल अंजान त्रिपाठी ने बताया कि रानीगंज में 18 दारोगा, 30 सिपाही, 20 महिला सिपाह व डेढ़ सेक्शन पीएसी, फतनपुर में पांच दारोगा, 20 सिपाही, 12 महिला सिपाही, डेढ़ सेक्शन पीएसी और मानधाता थाना क्षेत्र में पांच दारोगा, 20 सिपाही व 10 महिला सिपाही, डेढ़ सेक्शन पीएसी की व्यवस्था की गई है। इसके अलावा मां दुर्गा की प्रतिमाओं के विसर्जन के दौरान पुलिस बल तैनात रहेगा।

Edited By: Jagran