प्रतापगढ़ : कोतवाली क्षेत्र के घरौरा गांव में पखवारे भर पहले रात में धान की फसल की रखवाली कर रहे ट्रक चालक की गोली मारकर हत्या कर दी गई थी। पुलिस ने शुक्रवार को मृतक की पत्नी व उसके प्रेमी को गिरफ्तार कर घटना के राजफाश का दावा किया है।

कोतवाली के घरौरा निवासी ट्रक चालक फकरे आलम 10 नवंबर की रात अपने खेत में धान के फसल की रखवाली कर रहा था। रात करीब एक बजे चारपाई पर सोते समय किसी ने उसे गोली मार दी थी। एसआरएन अस्पताल प्रयागराज पहुंचने पर चिकित्सकों ने उसे मृत घोषित कर दिया था। मामले में मृतक की पत्नी मतरबुननिशा की तहरीर पर पुलिस ने अज्ञात के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया और छानबीन शुरू की। वहीं सप्ताह भर बाद मृतक की पत्नी मतरबुननिशा ने घटना को एक नया मोड़ देने का प्रयास किया। पुलिस महानिदेशक लखनऊ को शिकायती पत्र भेजकर रंजिश के चलते गांव के एक व्यक्ति द्वारा कुछ लोगों के साथ मिलकर उसके पति की हत्या करने का आरोप लगाते हुए न्याय की गुहार लगाई। इधर छानबीन में जुटी पुलिस ने मृतक की पत्नी का कॉल डिटेल खंगाला तो उसे व उसके प्रेमी पड़ोसी गांव गाबी महुआवन निवासी जुबेर पुत्र इद्रीश को घटना में लिप्त पाया। पुलिस के अनुसार मतरबुननिशा का सीडीआर पर कॉल डिटेल खंगाला गया तो पता चला कि उसका अपने प्रेमी जुबेर के साथ बराबर बातचीत हो रही थी। मतरबुननिशा के सामने कॉल डिटेल का सच रखा गया तो उसने प्रेमी के साथ मिलकर पति की हत्या के जुर्म को स्वीकार कर लिया। कोतवाल राकेश भारती का कहना है कि मृतक की पत्नी मतरबुननिशा ने जुबेर से मिलकर अपने पति को मौत के घाट उतरवा दिया। मतरबुननिशा को उसके घर से व जुबेर को उसके गांव समीप राजा साहब अमरूद की बाग के पास से तमंचे के साथ गिरफ्तार किया गया। उन्होंने बताया कि आरोपितों को जेल भेज दिया है।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस