संवाद सूत्र, प्रतापगढ़ : चर्चित आइएएस अभय सिंह के भाई अक्षय सिंह सीबीआइ के शिकंजे में फंस गए हैं। उन्हें रिश्वत लेने के मामले में सीबीआइ ने जेल भेजा है। इन्हीं अक्षय सिंह ने करीब हफ्ते भर पहले अपने मामा भाजपा नेता रवि सिंह सहित दो लोगों पर धोखाधड़ी का मुकदमा दर्ज कराया था।

आइएएस अभय सिंह मूलत: नगर कोतवाली क्षेत्र के पचखरा गांव के रहने वाले हैं। इनका आवास शहर में सिविललाइन में भी है। ईडी की छापेमारी के बाद आइएएस अभय सिंह चर्चित हुए थे। कुछ महीने पहले अभय सिंह के पिता अमरेंद्र बहादुर सिंह और इनके मामा रवि प्रताप सिंह के बीच सिटी पैलेस के मालिकाना हक को लेकर विवाद हुआ था। इसमें रवि प्रताप सिंह के खिलाफ मुकदमा दर्ज कराया गया था।

अभय सिंह के भाई अक्षय सिंह इंडियन ट्रेड प्रमोशन आर्गेनाइजेशन नई दिल्ली में उप प्रबंधक पद पर तैनात हैं। इनके खिलाफ गुजरात के अहमदाबाद जिले के सिलजगांव थलतेज निवासी जीगर पटेल ने सीबीआइ (एससीबी) दिल्ली के एसपी से शिकायत की थी कि इंडियन ट्रेड प्रमोशन आर्गनाइजेशन दिल्ली द्वारा तीन से सात मार्च तक प्रगति मैदान में आहार मेले का आयोजन किया गया है। उनकी कंपनी को स्पेस बुकिग व स्टाल की सजावट का काम मिला है। वह 15 फरवरी को अक्षय सिंह के पास अलाटमेंट लेटर मांगने गया तो उनसे 1.25 लाख रुपये की मांग की गई। इस शिकायत पर सीबीआइ ने दो दिन पहले रिश्वत के साथ अक्षय सिंह को गिरफ्तार कर लिया था। इन्हीं अक्षय सिंह ने करीब हफ्ते भर पहले अपने मामा व भाजपा नेता रवि प्रताप सिंह और नेशनल अर्बन कोआपरेटिव के तत्कालीन महाप्रबंधक कमलाकांत त्रिपाठी के खिलाफ नगर कोतवाली में धोखाधड़ी का मुकदमा दर्ज कराया था। अक्षय की सीबीआइ द्वारा की गई गिरफ्तारी की चर्चा जोरों पर रही।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस