जासं, प्रतापगढ़ : ऊमरवैश्य समाज के सामूहिक विवाह में बुधवार को 14 जोड़े जिदगी भर के लिए एक हुए। साथ फेरे लेकर उन्होंने विवाह रचाया और जीवन की नई राह पर विश्वास के साथ चल पड़े।

जिला ऊमरवैश्य समाज सभा का यह 12वां आयोजन था। इसमें यूपी के साथ ही कई अन्य प्रांतों से भी समाज के लोग पहुंचे। राम जानकी मंदिर महुली से बरात शोभायात्रा बैंड बाजे के साथ चली। इसमें नेतृत्व करते हुए समाज के लोग आगे-आगे चल रहे थे। संरक्षक रोशनलाल ऊमरवैश्य ने बरातियों का स्वागत किया। बरात में महिला, पुरुष और बच्चे नाचते गाते चल रहे थे। ऊमरवैश्य धर्मशाला के सामने मैरेज हाल में इस बार आकर्षक पंडाल और मंच लगा था। इस मौके पर सांसद संगम लाल गुप्ता भी पहुंचे। उन्होंने कहा कि इस तरह का आयोजन न केवल फिजूलखर्ची को रोकता है बल्कि समाज को एकता के सूत्र में भी बांधता है। विधायक सदर राजकुमार पाल ने कहा कि समाज के उत्थान के लिए यह प्रयास सराहनीय है। इस मौके पर श्रीकिशोर अग्रवाल, राम अंजोर, श्रीराम, मदन, मनोज, देवेंद्र, पूनम गुप्ता, महिमा गुप्ता, विवेक उपाध्याय, शोभनाथ, रेखा देवी, संतोष कुमार, अ‌र्श्वनी सोनी, पारसनाथ, डा. श्याम, रामकृपाल समेत समाज के लोग बड़ी संख्या में मौजूद रहे।

रंगारंग प्रस्तुतियों ने मनमोहा

14 जोड़ों की शादी के लिए अलग-अलग मंडप बनाए गए थे। सभी जोड़ों को नंबर आवंटित किया गया था। मुख्य मंच पर कलाकार मयूर नृत्य और राधा-कृष्ण की लीलाओं पर आधारित नृत्य प्रस्तुत कर सबका मन मोहते रहे। उपहार में उपयोगी आइटम

सभी जोड़ों को नई गृहस्थी बसाने के लिए उपहार में जरूरी सामान दिए गए। बेड, बिस्तर, जेवरात के साथ ही फर्नीचर, किचन के आइटम, श्रृंगार किट समेत पैकेज उपकार के रूप में आयोजन समिति द्वारा प्रदान किया गया।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस