पीलीभीत,जेएनएन : दियोरिया कलां थाना पुलिस और स्पेशल आपरेशन ग्रुप की टीम ने संयुक्त रूप से अंतरजनपदीय तीन वाहन चोर गिरफ्तार किए हैं, जिनकी निशानदेही पर चोरी की सात बाइक बरामद की गई हैं। पुलिस ने इस मामले में चार आरोपितों के विरुद्ध मुकदमा दर्ज किया है। एक आरोपित को कुछ दिन पहले ही बाइक चोरी के मामले में गिरफ्तार कर जेल भेजा जा चुका है। पुलिस अधीक्षक दिनेश कुमार पी ने इस कामयाबी के लिए पुलिस टीम को 25 हजार रुपये का इनाम देने की घोषणा की है।

पुलिस अधीक्षक ने गुरुवार की दोपहर पुलिस लाइन सभागार में आयोजित प्रेस कांफ्रेंस में बताया कि जनपद में बाइक चोरी करने वाले गिरोह के बारे में दियोरिया कलां थानाध्यक्ष अचल कुमार को कुछ दिन पहले सूचना मिली थी, जिसके बाद दियोरिया कलां थाना पुलिस तथा स्पेशल आपरेशन ग्रुप की टीमों को गिरोह की तलाश में लगाया गया। जिसके बाद बुधवार की देरशाम दियोरिया कलां थाना क्षेत्र के पकड़िया तिराहे पर चेकिग के दौरान दो मोटरसाइकिलों पर सवार तीन लोगों को संदेह होने पर रोकने का इशारा किया। तब तीनों आरोपितों ने भागने का प्रयास किया, लेकिन पुलिस टीम ने घेराबंदी कर तीनों को पकड़ लिया। गिरफ्तार आरोपितों में दियोरिया कलां थाना क्षेत्र के गांव जादौपुर पट्टी निवासी प्रवीन वर्मा पुत्र रामअवतार वर्मा, पूरनपुर थाना क्षेत्र के गांव मोहम्मदपुर निवासी आशू पांडेय पुत्र सुरेंद्र पांडेय तथा उत्तराखंड के जिला ऊधमसिंह नगर के खटीमा थाना क्षेत्र के गांव अमाऊ लोहिया हेड रोड निवासी विवेक परिहार उर्फ बाबा पुत्र अनिल परिहार हैं। पूछताछ के दौरान आरोपितों ने बरेली, शाहजहांपुर, पीलीभीत समेत विभिन्न स्थानों से बाइक चोरी की घटनाओं को अंजाम देने का जुर्म इकबाल किया।

पुलिस अधीक्षक ने बताया कि आरोपित प्रवीन वर्मा के कब्जे से तीन बाइक बरामद की गई। आरोपित आशू पांडेय तथा विवेक परिहार की निशानदेही पर चार बाइक बरामद की गई हैं। पूछताछ के दौरान आरोपितों ने बाइक चोरी की घटनाओं में पूरनपुर थाना क्षेत्र के गांव अजीतपुर बिल्हा निवासी प्रेम चंद्र उर्फ बिल्लन पुत्र दुर्गेश वर्मा के शामिल होने की बात स्वीकार की। आरोपित प्रेम चंद्र उर्फ बिल्लन को पूरनपुर थाना पुलिस ने 23 अक्टूबर को चार बाइक के साथ गिरफ्तार किया था। वर्तमान में आरोपित प्रेम चंद्र बिल्लन जेल में है। पुलिस अधीक्षक के मुताबिक आरोपित प्रवीन वर्मा के खिलाफ एक दर्ज मुकदमे दर्ज हैं। आरोपित आशू पांडेय के खिलाफ आठ मुकदमे, विवेक परिहार के विरुद्ध आठ मुकदमें तथा आरोपित प्रेम चंद्र उर्फ बिल्लन के विरुद्ध एक दर्जन मुकदमे दर्ज हैं।

पुलिस टीम में ये रहे शामिल

दियोरिया कलां थानाध्यक्ष अचन कुमार, एसओजी प्रभारी सतेंद्र कुमार, दारोगा मुजम्मिल खां, राजेंद्र सिंह, हेड कांस्टेबिल ज्ञान चंद्र, कांस्टेबिल मोहम्मद शकील, अमन अवस्थी, गौरव कुमार। इन्सेट

स्मैक की लत ने दिखाई जुर्म की राह

बाइक चोरी के मामले में गिरफ्तार विवेक परिहार उत्तराखंड के जिला ऊधमसिंहनगर के खटीमा थाना क्षेत्र के गांव अमाऊ निवासी है। विवेक अच्छे परिवार से ताल्लुक रखता है। पिता पूर्व सैनिक है, वह बैंक में कार्यरत हैं, जबकि उसका भाई लंदन में पढ़ाई कर रहा है। विवेक परिहार को स्मैक पीने की लत लग गई। परेशान होकर परिवार वालों ने उसे नशा मुक्ति केंद्र में भर्ती कराया, लेकिन विवेक वहां से भाग निकला। विवेक रोजाना स्मैक पीने का आदी है। पूरनपुर में किराए का मकान लेकर रहते थे आरोपित

गिरफ्तारी के बाद पूछताछ के दौरान तीनों आरोपितों ने पुलिस टीम को बताया कि वे सभी लोग पूरनपुर नगर में किराए का मकान लेकर रहते थे। आरोपित आशू पांडेय ने कुछ दिन पहले चोरी की एक बाइक को घुंघचाई रोड स्थित गांव निवासी व्यक्ति को साढ़े आठ हजार रुपये में गिरवी रखा था। पुलिस टीम ने इस बाइक को भी बरामद कर लिया है।

Edited By: Jagran