घुंघचाई (पीलीभीत) : हरदोई ब्रांच नहर में नहाने के दौरान पानी में डूबे दोनों छात्रों के शवों को एसएसबी की रेस्क्यू टीम ने अगले दिन डूबने की जगह से डेढ़ सौ कदम की दूरी से बरामद कर लिया। शव नहर से निकलते ही मृतकों के परिजन दहाड़े मारकर रोने लगे। मौके पर पहुंचे एसडीएम और पुलिस क्षेत्राधिकारी ने परिजनों को ढांढस बंधाया।

चौकी क्षेत्र के हरदोई ब्रांच नहर के टूटे पुल के पास बीसलपुर के मोहल्ला हबीबुल्ला खां सुमाली निवासी छात्र अभिषेक और पटेल नगर निवासी अंकुर कश्यप अपने कुछ साथियों के साथ शनिवार को हरदोई ब्रांच नहाने के दौरान डूब गए थे। सूचना पर घटनास्थल पर परिजनों के अलावा पुलिस क्षेत्राधिकारी, एसडीएम चंद्रभानु सहित कोतवाली पुलिस नहर में डूबे छात्रों को खोजने के लिए स्थानीय गोताखोरों की मदद से प्रयास करती रही। सफलता न मिलने पर देर शाम को एसएसबी की रेस्क्यू टीम को बुलाया गया लेकिन अंधेरा होने के कारण रेस्क्यू टीम को भी सफलता नहीं मिल पाई थी। रविवार को एसएसबी के जवानों ने मोटर बोट के सहारे डूबने के स्थान से डेढ़ सौ कदम की दूरी पर एक ही जगह से दोनों ही छात्रों के शव बरामद कर लिए। एसडीएम चंद्रभानु और पुलिस क्षेत्राधिकारी कमल सिंह ने हादसे में मरे परिवार के लोगों को ढांढस बंधाया। शव नहर से निकाले जाने की सूचना पर भारी भीड़ एकत्र हो गई।

एक साथी ने किया नहर में कूदने का प्रयास

रेस्क्यू टीम को अंधेरा होने के कारण शवों को ढूंढने में सफल नहीं मिली जिसपर पुलिस ने अन्य किसी घटना को टालने के लिए घटनास्थल पर रात में ही लाइट की मुकम्मल व्यवस्था कर दी। सिमराया के प्रधान जगदेव सिंह ने बताया कि घटनास्थल पर काफी देर तलाशने के बाद भी जब छात्रों को नहीं निकाला जा सका तो उनके एक साथी आकाश नहर में कूदने का प्रयास करने लगा। लोगों ने बमुश्किल रोका।

एसडीएम ने बोर्ड लगाने के दिए निर्देश

घुंघचाई हरदोई ब्रांच नहर में वैसे तो कई हादसे हो चुके हैं। इसको टालने के लिए अब प्रशासन सक्रिय हो गया है। उपजिलाधिकारी चंद्रभानु

ने घटनास्थल के पास ग्राम प्रधान जगदेव सिंह जग्गा से नहर में नहाने का प्रतिबंधित बोर्ड लगवाने को कहा। कोतवाल केशव कुमार ने मौके पर मौजूद लोगों को बताया कि नहर में पिकनिक के लिहाज से मौज मस्ती करने वालों के नहाने की जानकारी स्थानीय पुलिस को दें जिससे हादसों को टाला जा सके।

नहर की झाल में फंस गए दो युवक

नहर में डूब कर बीसलपुर के दो छात्रों की मौत को लेकर उनके परिवार के लोग पूरी रात घटनास्थल पर जुटे रहे। इसी दिन शनिवार को नहर के स्थित सिद्ध बाबा स्थल के पास घुंघचाई गांव निवासी ऋषि ब मोनू साथियों के साथ स्नान कर रहे थे। अचानक युवक दोनों युवक नहाने के दौरान बुरी तरीके से झाल में फंस गए। शोर शराबा होने के बाद बमुश्किल उन्हें बाहर निकाला जा सका।

Posted By: Jagran