पीलीभीत,जेएनएन: एसएसबी 49 वीं वाहिनी टाटरगंज की चौकी पर तैनात जवान के साथ मारपीट करने के मामले में पुलिस आरोपितों को नहीं दबोच सकी। सिर्फ अभिलेखों में जगह देखकर इतिश्री कर ली गई है। सीओ ने इंस्पेक्टर के साथ टिल्ला नंबर चार पर गश्त कर वहां सुरक्षा व्यवस्था का जायजा लिया।

शुक्रवार की रात नेपाल सीमावर्ती एसएसबी चौकी टाटरगंज में कुछ लोगों ने घुसने का प्रयास किया था। जवान प्रदीप के विरोध करने पर उन लोगों ने उसके साथ मारपीट शुरू कर दी थी। इससे वह घायल हो गया था। पुलिस ने इस मामले में आरोपितों के खिलाफ रिपोर्ट तो दर्ज कर ली लेकिन उन्हें गिरफ्तार नहीं कर सकी है। हजारा पुलिस बाजारघाट और टाटरगंज निवासी कई लोगों पर संगीन मामलों के मुकदमे दर्ज होने के बाद भी उन्हें गिरफ्तार नहीं कर पा रही है। इसके चलते वहां सिपाही और एसएसबी जवानों के साथ मारपीट, अभद्रता के मामले रूकने का नाम नहीं ले रहे हैं। हालांकि हजारा पुलिस दबिश देने की बात कही रही लेकिन गिरफ्तारी न होने की वजह से आरोपित खुलेआम घूम रहे हैं। रविवार को पुलिस क्षेत्राधिकारी योगेन्द्र कुमार ने हजारा पहुंचकर बार्डर क्षेत्र के टिल्ला नंबर चार संवेदनशील जगहों पर गश्त कर जायजा लिया। इंस्पेक्टर रामसेवक राजवंशी ने जल्द ही आरोपितों की गिरफ्तारी की बात कही है।

इनसेट

बजती रही सीटी, नहीं पहुंचा सिपाही

सीओ ने थाना की सुरक्षा व्यवस्था को लेकर वहां मुआयना किया। पहरे पर तैनात महिला सिपाही रिकी चौधरी को बुलाया और राइफल में जंजीर नहीं लगी होने पर नाराजगी व्यक्त की। महिला सिपाही को व्हिसल बजाकर हमराही सिपाहियों व अन्य सिपाहियों को बुलाने का संकेत दिया। महिला सिपाही तेज स्वर में सीटी बजाती रही लेकिन थाना का कोई भी सिपाही या दारोगा मौके पर नहीं पहुंचा। उन्होंने एक दरोगा पर नाराजगी व्यक्त की। सीओ ने बैरक, मेस, शौचालय, शस्त्रागार, हवालात का निरीक्षण कर अपराध रजिस्टर, गुंडा एक्ट, जिला बदर, टॉप 10, भूमाफिया समेत अन्य पंजिकाओं का अवलोकन किया। थाना में अव्यवस्था हावी होने पर सीओ काफी नाराज थे।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस