पीलीभीत : नगर पालिका परिषद से रोस्टर तैयार करा दिया गया है। रोस्टर के हिसाब से जल्द ही शहर के प्रमुख मार्गों और बाजार वाली गलियों से अतिक्रमण हटाने का अभियान शुरू कर दिया जाएगा। डेयरी संचालकों ने आबादी के बीच जहां-जहां गोबर के ढेर लगा रखे हैं, उस गोबर को वहां से हटाने का कार्य नगर पालिका परिषद जल्द ही करेगा। साथ ही अब डेयरी संचालकों को अपने यहां से गोबर को सूखा उठवाकर शहर के बाहर ले जाना होगा। निर्देश दिए जा चुके हैं। उल्लंघन करने पर संबंधित डेयरी संचालकों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जाएगी। साथ ही पशुओं को डेयरी से निकालने और वापस लाने के लिए भी समय निर्धारित किया गया है। डेयरी वाले अपने पशुओं के गले में रेडियम पट्टी डालकर उस पर अपना नाम, पता और मोबाइल नंबर भी लिखवाएंगे, जिससे निर्धारित समय के अलावा पशुओं के सड़कों पर निकलने पर उनके मालिकों के खिलाफ कार्रवाई की जा सके। बुधवार को दैनिक जागरण के साप्ताहिक कार्यक्रम प्रश्न पहर में टेलीफोन पर सुधी पाठकों के सवालों के जवाब देते हुए नगर मजिस्ट्रेट अर्चना द्विवेदी ने कहा कि गांधी प्रेक्षागृह को आधुनिक सुविधाओं से लैस किया जाएगा। सरकारी कार्यक्रमों के अलावा आम नागरिकों को निजी आयोजन के लिए भी न्यूनतम किराया दरों पर इसे उपलब्ध कराया जाएगा। शहर में पार्किंग की समस्या को दूर करने के लिए जल्द ही स्थानों का चयन करके व्यवस्था लागू कराई जाएगी। टनकपुर हाईवे स्थित गौहनिया सरोवर का सुंदरीकरण कार्य भी प्रस्तावित कर दिया गया है। गोबर के ढेर हटाए जाने के बाद जो सार्वजनिक स्थान खाली होंगे, उन पर पार्क अथवा पार्किंग की व्यवस्था रहेगा, जिससे उस भूमि पर सदुपयोग हो सके।

सवाल : गौरीशंकर मंदिर व राजकीय आयुर्वेदिक कॉलेज के अकादमिक ब्लॉक को जाने वाले रास्ते पर गोबर के ढेर लगा हैं। पशुपालक अपने पशु सड़क पर बांध देते हैं। इस क्षेत्र में कई शिक्षण संस्थाएं भी हैं। ऐसे में लोगों को भारी परेशानी हो रही है।

डॉ. राघवेंद्र मोहन, राजकीय आयुर्वेदिक कॉलेज

जवाब : गोबर के जो ढेर पहले से लगे हैं, उन्हें जल्द हटवाकर सफाई कराई जाएगी। आगे से कोई डेयरी वाला आबादी के बीच गोबर के ढेर नहीं लगाएगा। इसके लिए सख्त निर्देश दे दिए गए हैं। उन्हें अपनी डेयरी का गोबर से बाहर ले जाना होगा।

सवाल : चूड़ी वाली गली बाजार में सड़क के बीच पार्किंग बना दी गई। इससे आवागमन की दिक्कतें हैं। साथ ही मच्छर बढ़ रहे लेकिन मलेरिया विभाग और नगर पालिका छिड़काव नहीं करा रही।

इकबाल हजरत खां, पूर्व सभासद

जवाब : नगर पालिका परिषद के लिए रोस्टर तैयार करा दिया गया है। जल्द ही रोस्टर के अनुसार अतिक्रमण हटाने की कार्रवाई शुरू कराई जाएगी। फा¨गग कराने के लिए भी निर्देश दे दिए हैं।

सवाल : डेयरी वालों ने आबादी के बीच गोबर के ऊंचे-ऊंचे ढेर लगा रखे हैं। बरसात में गोबर सड़ने से उठने वाली दुर्गंध के कारण लोग परेशान हो रहे हैं।

शिवानी सक्सेना, मुहल्ला खकरा

जवाब : अभी तो जहां-जहां भी शहर में गोबर के ढेर लगे हैं, उन्हें उठवाने का काम नगर पालिका कर देगी। आगे से कोई भी डेयरी संचालक गोबर को डंप नहीं करेगा बल्कि उसे शहर से बाहर ले जाने के निर्देश दे दिए गए हैं। कोई डेयरी वाला निर्देशों की अनदेखी करेगा तो उसके खिलाफ कार्रवाई होगी।

सवाल : बाजार में अतिक्रमण के कारण लोगों का पैदल निकलना तक मुश्किल होने लगता है। इस समस्या का क्या समाधान है।

दीपक राठौर, मुहल्ला तुलाराम

जवाब : मुख्य बाजार में अस्थाई अतिक्रमण है, जिसे जल्द ही हटवाया जाएगा। इसके लिए रोस्टर तय कर दिया गया है। गांधी स्टेडियम के बाहर खुले नाले को भी कवर्ड किया जाएगा।

सवाल : नौगवां पकड़िया में चारो ओर गंदगी व्याप्त है। आवारा पशु घूमते रहते हैं। इस समस्या से निजात दिलाई जाए।

प्रेम शंकर, नौगवां पकड़िया

जवाब : ग्राम पंचायत से जुड़ा मामला है। आप एक प्रार्थना पत्र दे दें। जिला पंचायत राज अधिकारी के माध्यम से समस्या का समाधान कराया जाएगा।

सवाल : खकरा से नई तहसील जाने वाले मार्ग पर स्पीड ब्रेकर न होने से दुर्घटनाएं हो रही हैं। यहां स्पीड ब्रेकर बनने चाहिए।

पूनम, मुहल्ला खकरा

जवाब : निरीक्षण करके देखा जाएगा कि कहां-कहां पर वास्तव में स्पीड ब्रेकर की आवश्यकता है। जिस विभाग की सड़क होगी, उसी के माध्यम से ब्रेकर तैयार करा दिए जाएंगे।

सवाल : शहर में चावला चौराहा पर स्थित वी मार्ट मॉल में पार्किंग की कोई व्यवस्था नहीं है। इससे अव्यवस्था बनी रहती है।

विपिन वर्मा, चावला चौराहा

जवाब : पार्किंग तो होनी ही चाहिए। इससे पहले किसी ने जानकारी ही नहीं दी। इस मामले को विनियमित क्षेत्र के माध्यम से दिखवाते हैं। वी मार्ट को पार्किंग की व्यवस्था अपने स्तर से करनी होगी।

सवाल : स्टेडियम रोड पर अतिक्रमण के चलते दिन में कई बार जाम लगता है, इससे स्कूली बच्चे काफी समय तक फंसे रहते हैं।

महेंद्र ¨सह, एकता नगर

जवाब : स्टेडियम रोड से भी अतिक्रमण हटाया जाएगा। जाम लगने का प्रमुख कारण अस्थाई अतिक्रमण है। रोस्टर तैयार हो चुका है। उसी के अनुसार अतिक्रमण हटाने की कार्रवाई होगी।

सवाल : गौहनिया सरोवर के सामने भवन का निर्माण पहले रोका गया था लेकिन अब फिर शुरू हो गया है।

अजय सक्सेना, बल्लभनगर

जवाब : उस मामले की पत्रावली का निस्तारण हो गया है। निर्माण अवैध नहीं पाया गया, इसीलिए फिर शुरू करने की अनुमति दे दी गई है।

सवाल : मुहल्ला डालचंद में सफाई नायक महिला है लेकिन वह कभी क्षेत्र में अपनी ड्यूटी करने नहीं जाती बल्कि उसका देवर काम देखता है।

अभिषेक, मुहल्ला डालचंद

जवाब : अगर ऐसा है तो उसका संज्ञान लिया जाएगा। ईओ से मामले की जांच कराने के बाद कार्रवाई की जाएगी।

सवाल : शहर में आबादी क्षेत्र में गोबर के ढेर लगे हैं। इससे लोगों को बहुत परेशानी हो रही है।

प्रेम गंगवार, निकट जाटों का चौराहा

जवाब : आगे से कोई डेयरी वाला गोबर को डंप नहीं करेगा बल्कि उसे शहर से बाहर पहुंचाने के लिए निर्देश दे दिए गए हैं।

Posted By: Jagran