जागरण संवाददाता, पीलीभीत : परिवहन विभाग की ओर से शुरू किए गए सड़क सुरक्षा सप्ताह के पहले दिन कार्यशाला का आयोजन किया गया। मुख्य अतिथि शहर विधायक संजय सिंह गंगवार ने सड़कों पर रेस की होड़ के कारण हादसे बढ़ने की बात कही। उन्होंने विद्यार्थियों को जागरूक करते हुए कहा कि प्रतिस्पर्धा शिक्षा और खेलकूद में अवश्य करिये। इससे जीवन में आगे बढ़ेंगे कितु यदि सड़क पर वाहन चलाते समय रेस की प्रतिस्पर्धा करेंगे तो जीवन ही समाप्त हो सकता है।

सोमवार को बेनहर पब्लिक स्कूल के सभागार में हुई कार्यशाला में मुख्य अतिथि ने मोटर एक्ट संशोधन विधेयक के नियमों का पालन करने, वाहन चलाते समय सीट बेल्ट व हेलमेट का प्रयोग अवश्य करने के लिए जागरूक किया। अध्यक्षता करते हुए एसपी अभिषेक दीक्षित ने अपने निजी अनुभवों को साझा करते हुए कहा कि क्षणिक असावधानी से होने वाली एक सड़क दुर्घटनाओं से बचने का एकमात्र तरीका सुरक्षा उपकरणों से लैस होना और पूरी सजगता से वाहन चलाना चाहिए। उन्होंने कहा कि एक सड़क दुर्घटना पूरे परिवार के लिए अत्यधिक कष्टदायी हो जाती है। इन सबसे बचने के लिए स्वयं से ही शुरुआत करनी होगी। सड़क सुरक्षा को अपनी जीवनचर्या में शामिल करना होगा। विशिष्ट अतिथि एडीएम वित्त एवं राजस्व अतुल सिंह ने कहा कि सबका जीवन अमूल्य है। सड़क पर वाहन चलाते समय अपने साथ साथ सहयात्रियों की सुरक्षा का भी ध्यान रखना चाहिए। एआरटीओ अमिताभ राय ने सड़क दुर्घटनाओं पर चिता व्यक्त करते हुए जिले में दुर्घटना बाहुल्य क्षेत्रों के बारे में जानकारी दी। डिजिटल लॉकर व एम परिवहन एप के बारे में बताते हुए कहा कि इसमें अपने वाहन के अभिलेख व ड्राइविग लाइसेंस को सुरक्षित कर सकते हैं। सड़क पर वाहन चेकिग के दौरान प्रपत्र मांगे जाने पर इसे दिखाकर असुविधा से बचा जा सकता है। कार्यशाला में एसीएमओ डॉ. वी. राम, डीआइओएस संत प्रकाश, बीएसए देवेंद्र स्वरूप, पीडब्ल्यूडी के सहायक अभियंता नवनीत सक्सेना, 11 इंटर कॉलेजों के लगभग 200 विद्यार्थी, मोटर ट्रेनिग कॉलेज के प्रतिनिधि, शिक्षक व वकील व्यापारी आदि शामिल रहे।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप