संवाद सहयोगी, कलीनगर: माधोटांडा पीलीभीत मार्ग में मथना बैरियर के निकट नहर पुल के पास बाइक से आ रहे युवकों पर बाघ ने हमले का प्रयास किया। भयभीत बाइक सवार मार्ग में गिरकर घायल हो गए। इसी बीच दोनों ओर से वाहन आने से बाघ जंगल में चला गया। पीछे से आ रहे वाहन चालकों द्वारा घायलों को उठाकर जमुनिया पहुंचाया। उपचार के बाद घायल दोनों युवक अपने गांव चले गए।

माधोटांडा पीलीभीत मार्ग का करीब 10 किलोमीटर का सफर लोगों को जंगल के बीच होकर तय करना पड़ता है। शुक्रवार को पीलीभीत माधोटांडा मार्ग में मथना में स्थित वन विभाग के बैरियर से पहले निगोही ब्रांच नहर के पुल के पास बाघ झाड़ियों में छिपा बैठा था। बाघ ने पीलीभीत के कुंवरपुर गांव के दो बाइक सवार युवकों पर हमला कर दिया। जिससे बाइक सवार संतुलन खो बैठे और गिरकर घायल हो गए इसी बीच कई दोपहिया और चार पहिया वाहन आ गए। जिस कारण बाघ युवकों को छोड़कर जंगल मे चला गया। सुखदासपुर नवदिया के पूर्व ग्राम प्रधान छत्रपाल ने बताया कि वह भी पीलीभीत से युवकों के पीछे आ रहे थे। उन्होंने भी युवकों पर बाघ को झपटता देखा। जिस पर उन्होंने अपनी बाइक रोक ली। संयोग से दोनों ओर से कई वाहन आ गए। जिस कारण बाघ जंगल में चला गया। घायल दोनों युवकों को लोगों की मदद से जमुनिया लाकर इलाज कराया गया।

पहले भी हो चुके हैं हादसे

अक्सर वाहनों के गुजरने के दौरान वन्य जीव मार्ग में आ जाते हैं। वन्यजीवों से कई दोपहिया वाहन चालक टकराकर घायल हो चुके हैं। कुछ माह पहले कलीनगर के एक लेखपाल चीतल से टकराकर घायल हो गए थे। नगर पंचायत के पूर्व चेयरमैन के पुत्र अशोक कुमार पर भालू ने माला पुल के निकट हमला कर दिया था। इसमें वह घायल हो गए। दो दिन पूर्व माधोटांडा डीसीबी बैंक के मैनेजर भी बाघ हमले में बाल बाल बच गए।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस