संस, बीसलपुर (पीलीभीत) : नगर पालिका बोर्ड की हंगामेदार बैठक में लाखों के खर्चे से ठेके पर सफाई करने वाले ठेका कर्मचारियों को हटाने तथा पालिका के भूखंडों पर कब्जा करने वाले लोगों के खिलाफ कार्रवाई किए जाने समेत एक दर्जन से अधिक प्रस्ताव विधायक की मौजूदगी में सर्वसम्मति से पारित किए गए। गृहकर व जलकर में साठ प्रतिशत की छूट दिए जाने की सहमति जताई गई।

बुधवार को नगर पालिका के पुस्तकालय भवन में पालिका की बोर्ड बैठक आहुत हुई। सर्वसम्मति से पालिका द्वारा लगाए गए गृहकर व जलकर में 60 प्रतिशत छूट दिए जाने का प्रस्ताव रखा गया। सभासद राजेश सिंह ने आरोप लगाया कि ठेका सफाई कर्मचारी सफाई करने के नाम पर मात्र खानापूरी कर रहे हैं। सफाई कार्य कराने में पालिका को लाखों रुपयों की धनराशि व्यर्थ में खर्च करनी पड़ रही है। इस शिकायत का सभ्सी सभासदों ने समर्थन किया। निर्णय लिया गया कि 20 वाडरें में पालिका के स्थाई व संविदा कर्मचारी सफाई कार्य करेंगे केवल पांच वाडरें में ठेकेदार सफाई कार्य कराया जाएगा। विधायक रामसरन वर्मा ने अधिशासी अधिकारी वंदना शर्मा को निर्देश दिया कि पालिका कार्यालय परिसर में कोई भी वाहन खड़ा न किया जाए और सफाई कर्मचारी ड्यूटी के समय कार्यालय में घूमने न आएं। पालिका कार्यालय को व्यवसायिक कांपलेक्स बनवाने तथा पीलीभीत मार्ग पर पड़े भूखंड पर पालिका कार्यालय बनवाने पर विचार किया गया। निर्णय लिया गया जो भी कार्यवाही की जाएगी उसकी एक प्रति सभी सभासदों को उपलब्ध कराई जाएगी। सभासदों की सहमति के बिना कोई भी कार्य नहीं होगा। बैठक में कर अधीक्षक उमेश चंद्र आनंद सफाई निरीक्षक वीरेंद्र विक्रम सिंह, कार्यालय अधीक्षक संजीव मिश्र, सभासद फिरासत बेग, अनुपम मित्तल, रितेश अग्रवाल, सुशीला भारद्वाज, सज्जन खां, वीरेंद्र यादव, अलाउद्दीन, नवनी दुबे, सौलत हसन समेत पालिका के सभी सभासद मौजूद थे। बैठक पालिका अध्यक्ष डॉ. नूरअहमद अंसारी की अध्यक्षता में हुई।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप