जागरण संवाददाता, पीलीभीत: भारत छोड़ो आंदोलन की 77 वीं वर्षगांठ के मौके पर जिले में 21 लाख पौधे लगाए जाएंगे। शासन के निर्देश पर चुनावी पैटर्न पर इस अभियान के तहत नौ अगस्त को पूरे प्रदेश में 22 करोड़ पौधे लगाए जाएंगे। जन सहभागिता द्वारा कुल 26 विभागों के सहयोग से एक ही दिन में पौधे लगाने का लक्ष्य निर्धारित किया गया है।

नौ अगस्त को पौधारोपण महाकुंभ के तहत वृहद स्तर पर जिले में 21 लाख पौधों को लगाने का लक्ष्य निर्धारित किया गया है, जिसके तहत लोगों को मुफ्त में पौधों का वितरण भी किया जाएगा। शासनादेश के मुताबिक पौधों की आपूíत और रोपण कार्याें को चुनावी पैटर्न के आधार पर संचालित करने के लिए कहा गया है। कैसे होगा चुनावी पैटर्न पर कार्य

इस पैटर्न में पौधों को मतपत्र के रूप में और ग्राम पंचायतों को पोलिग बूथ के रूप में माना जाएगा। ग्राम प्रधान, पंचायत सचिव व ग्राम विकास अधिकारी में से जिलाधिकारी द्वारा नामित अधिकारी को पीठासीन अधिकारी के रूप में रखते हुए जिले को सेक्टर और जोन में विभाजन कर कार्रवाई की जाएगी। ब्लॉक स्तर पर सेक्टर पौधारोपण समन्वयक के रूप में वन विभाग के व अन्य विभाग के अधिकारी होंगे। न्याय पंचायत स्तर पर जिलाधिकारी द्वारा सेक्टर मजिस्ट्रेट नामित किए जाएंगे। कार्यक्षेत्र में मृदा कार्य, गड्ढा खोदान आदि कार्यों का सत्यापन करेंगे। तहसील स्तर पर जोनल पौधारोपण समन्वयक के रूप में वन विभाग के क्षेत्रीय वनाधिकारी कार्य करेंगे। यह होगी महाकुंभ की रूपरेखा

एक जुलाई से पांच अगस्त तक प्रशिक्षण व जागरूकता कार्यक्रम किए जाएंगे। साथ ही गड्ढा खोदान का कार्य 20 जुलाई तक पूरा कराया जा चुका है। इसके बाद 7 अगस्त तक पौधारोपण स्थल तक पौधों का ढुलान का कार्य किया जाएगा। नौ अगस्त को सभी विभागों द्वारा पौधे लगाए जाएंगे। 26 विभागों को सौंपी गई है जिम्मेदारी

शासन के निर्देश पर पौधारोपण महाकुंभ के लिए ग्राम्य विकास, राजस्व, पंचायती राज सहित पुलिस विभाग, शिक्षा विभाग सहित कुल 26 विभागों को इसकी जिम्मेदारी सौंपी गई है। विभागों के द्वारा पौधों को अपने कार्यालयों और खाली स्थानों में लगाने के निर्देश दिए गए हैं। इसके लिए वन विभाग की सभी नसर्रियों में फलदार और छायादार पौधों को लगाया जाएगा। पौधारोपण महाकुंभ के लिए सभी तैयारियां पूरी कर ली गई हैं। सभी विभागों में निर्धारित पौधों को पहुंचा दिया गया है। नौ अगस्त को अभियान के तहत 21 लाख पौधे लगाए जाएंगे। -संजीव कुमार, डीएफओ सामाजिक वानिकी।

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप