पीलीभीत : उत्तर प्रदेश मदरसा शिक्षा परिषद ने प्रदेश के 146 स्थाई मान्यता प्राप्त मदरसों को दो वर्षो में अनुदान सूची में शामिल किए जाने को हरी झंडी दे दी है। सूबे में प्रथम चरण में 75 मदरसों का चुनाव किया जाएगा।

मदरसा शिक्षा बोर्ड ने वर्ष 2003 तक आलिया यानी 10वीं कक्षा तक स्थाई मान्यता प्राप्त मदरसों को योजना में शामिल करने की कार्य योजना तैयार की है। वर्ष 2013-14 में सूबे में 75 मदरसों को योजना से लाभान्वित करने के लिए प्रस्ताव मांगे गए हैं। अनुदान योजना की इस सूची में इस बार जिले की झोली में भी दो मदरसे आ गए हैं। खास बात यह है कि अभी तक जिले का एक भी मदरसा अनुदान सूची में शामिल नहीं है। लिहाजा दो मदरसे अनुदान सूचि में शामिल होने से मदरसों के लिए राहत की बात है। अनुदान सूची के मानकों पर खरा उतरने के साथ ही मदरसों को एडेड कॉलेज की तर्ज पर सुविधाएं मिलेंगी। यानी टीचर्स की नियुक्ति व तनख्वाह सरकार की ओर से मिलेगी। साल 2003 तक स्थाई मान्यता हासिल कर चुके मदरसों से जिला अल्संख्यक कल्याण विभाग की ओर से योजना के लिए आवेदन मांगे गए हैं। जिला अल्संख्यक कल्याण अधिकारी देवेंद्र कुमार ने बताया कि अनुदान योजना में मदरसों से आवेदन मांगे गए हैं।

मोबाइल पर ताजा खबरें, फोटो, वीडियो व लाइव स्कोर देखने के लिए जाएं m.jagran.com पर