जागरण संवाददाता, नोएडा : सालारपुर गांव में बृहस्पतिवार देर रात निर्माणाधीन सीवर पाइप लाइन में बगल से गुजर रहे नाले का पानी घुसने से दो मजदूरों की मौत हो गई। पुलिस का कहना है कि सीवर व नाले के बीच की दीवार टूटने से पाइप में पानी भर गया था। गड्ढे में भरे नाले के पानी को बाहर निकाल कर एनडीआरएफ की टीम ने पांच घंटे बाद पाइप में फंसे दोनों मजदूरों के शव को बाहर निकाला।

कोतवाली सेक्टर-39 के प्रभारी प्रशांत कपिल ने बताया कि 25 अप्रैल से सालारपुर गांव में सीवर को नाले से जोड़ने का काम चल रहा था। नोएडा प्राधिकरण ने दनकौर निवासी हरिओम सिंह को इसका ठेका दिया है। हरिओम इसका पेटी कांट्रैक्ट दिल्ली निवासी अख्तर को दिया था। बृहस्पतिवार रात करीब 11 बजे चार-पांच मजदूर काम कर रहे थे। बदायूं निवासी असलम और जहांगीरपुरी, दिल्ली निवासी हामिद करीब 10 फीट गहरे गड्ढे में पाइप के अंदर घुस कर मिट्टी निकाल रहे थे। तभी नाले व सीवर के बीच की कमजोर दीवार पानी के दबाव से टूट गई। नाले का पानी तेजी से पाइप में घुसा और दोनों मजदूरों को बाहर निकलने का मौका तक नहीं मिला। गाजियाबाद से एनडीआरएफ की टीम बुलाई गई। गड्ढे में भरे पानी को मशीन से बाहर निकाला गया। करीब पांच घंटे चले ऑपरेशन के बाद शुक्रवार सुबह करीब 7.30 बजे पाइप में फंसे दोनों शवों को बाहर निकाल लिया गया। इंस्पेक्टर का कहना है कि नोएडा प्राधिकरण ने ठेकेदार पर लापरवाही का आरोप लगाते हुए शिकायत दी है। अभी मृतकों के परिजन से शिकायत नहीं मिली है। परिजन पोस्टमार्टम के बाद शवों को लेकर घर चले गए हैं। फरार ठेकेदार की तलाश की जा रही है। डीएम बीएन सिंह का कहना है कि मृतक परिजन को आर्थिक मदद दी जाएगी। इसके लिए प्राधिकरण से कहा गया है। परिजन को नियमानुसार सभी लाभ दिया जाएगा।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस