जागरण संवाददाता, नोएडा :

नवरात्र में नई गाड़ी खरीदने वाले वीआइपी नंबर के शौकीन लोग परेशान है, क्योंकि परिवहन विभाग के वीआइपी नंबर की ऑन लाइन नीलामी ठप है। यह संकट वीआइपी नंबरों के पंजीयन शुल्क की बढ़ी दरें सॉफ्टवेयर पर अपलोड न होने से उत्पन्न हुआ है। दरअसल, गाड़ी खरीदने से पहले ऑनलाइन नीलामी से वीआइपी नंबर लेना होता है। सॉफ्टवेयर अपडेट न होने से हफ्ते भर से वाहनों का पंजीकरण भी प्रभावित था। नोएडा एआरटीओ कार्यालय में नई सीरीज के वीआइपी नंबरों का पंजीकरण शुरू हो गया है।

यह है कारण : राज्य सरकार ने वीआइपी नंबर की बोली लगाने के लिए पंजीयन शुल्क बढ़ा दिया है। अब चार पहिया वाहन आवेदक को दो पहिया आवेदक से अधिक शुल्क जमानत के रूप में जमा करना पड़ेगा। अधिसूचना जारी होने के बाद से अब तक एनआइसी सॉफ्टवेयर में नए पंजीयन शुल्क की फीडिग नहीं कर सका है। इससे वीआईपी नंबर की ऑनलाइन नीलामी अटक गई है। नई सीरीज शुरू हो चुकी है। इसके 347 वीआईपी नंबरों की नीलामी प्रक्रिया अब तक शुरू नहीं हो सकी है। इससे इन नंबरों को आरक्षित कर दिया गया है। हालांकि तीन दिन से सर्वर डाउन चल रहा है, इससे लाइसेंस बनवाने वालों को भी दिक्कत हो रही है।

-एके पांडेय, (प्रशासन) सहायक संभागीय परिवहन अधिकारी, गौतमबुद्धनगर

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप