Move to Jagran APP

Summer Vacation: नोएडा, ग्रेटर नोएडा में 20 मई से बंद रहेंगे सभी बोर्ड के स्कूल, आदेश जारी

भीषण गर्मी को देखते हुए जिलाधिकारी के निर्देश पर बेसिक शिक्षा अधिकारी राहुल पंवार ने नर्सरी से लेकर कक्षा 8 तक के सभी बोर्ड के स्कूलों में 20 मई से ग्रीष्मकालीन अवकाश घोषित कर दिया है। आदेश का पालन नहीं करने वाले स्कूलों पर बेसिक शिक्षा विभाग की ओर से कार्रवाई की जाएगी। सभी बोर्ड के स्कूलों को इसकी जानकारी भेज दी गई है।

By Ankur Tripathi Edited By: Abhishek Tiwari Published: Mon, 20 May 2024 09:18 AM (IST)Updated: Mon, 20 May 2024 09:18 AM (IST)
Summer Vacation: नोएडा, ग्रेटर नोएडा में 20 मई से बंद रहेंगे सभी बोर्ड के स्कूल, आदेश जारी

जागरण संवाददाता, ग्रेटर नोएडा। भीषण गर्मी को देखते हुए जिलाधिकारी के निर्देश पर बेसिक शिक्षा अधिकारी राहुल पंवार ने नर्सरी से लेकर कक्षा 8 तक के सभी बोर्ड के स्कूलों में 20 मई से ग्रीष्मकालीन अवकाश घोषित कर दिया है।

आदेश का पालन नहीं करने वाले स्कूलों पर बेसिक शिक्षा विभाग की ओर से कार्रवाई की जाएगी। बेसिक शिक्षा अधिकारी राहुल पंवार ने बताया कि हिट वेब का प्रकोप चल रहा है।

मौसम विभाग की ओर से भी बहुत जरूरी काम के होने पर ही बाहर निकलने को कहा जा रहा है। छात्रों के हित को ध्यान रखते हुए स्कूलों में अवकाश घोषित किया गया है। सभी बोर्ड के स्कूलों को इसकी जानकारी भेज दी गई है। यदि कोई स्कूल खुला मिला तो उसके खिलाफ कार्रवाई की जाएगी।

ये भी पढ़ें-

Schools Close: गाजियाबाद में गर्मियों की वजह से 25 मई तक बंद रहेंगे कक्षा आठ तक के स्कूल

दिव्यांग छात्रों की राह होगी आसान, स्कूलों में मिलेगा विशेष प्रशिक्षण

परिषदीय स्कूलों में समावेश शिक्षा पर विशेष जोर दिया जा रहा है। इसके लिए सामान्य छात्रों के साथ दिव्यांग छात्रों के लिए भी विशेष सुविधाएं विकसित की जा रही है। इसके लिए स्पेशल प्रशिक्षकों को भी विशेष रूप से प्रशिक्षित किया जा रहा है। इसके लिए प्रदेश स्तर पर विशेष शिक्षकों का केंद्रीय प्रशिक्षण चल रहा है। जिले के परिषदीय स्कूलों में वर्तमान में दो हजार दिव्यांग छात्र पंजीकृत हैं।

दिव्यांग छात्रों के बेहतर शिक्षण के लिए जिले में 13 तैनात स्पेशल शिक्षको को तीन चरण में लखनऊ में प्रशिक्षण दिया जाएगा। उसके बाद यह शिक्षक जिले में प्रत्येक स्कूल से एक शिक्षक को प्रशिक्षण देंगे, जो विशेष रूप से दिव्यांग छात्रों पर फोकस करेगा। दिव्यांग छात्रों की सहूलियत को देखते हुए विभाग ने सामान्य स्कूलों में ही उनका प्रवेश कराया है। इसको देखते हुए सामान्य शिक्षकों को भी दृष्टि, श्रवण व बौद्धिक दिव्यांग छात्रों को पढ़ाने के लिए विशेष प्रशिक्षण दिया जाएगा।

विशेष प्रशिक्षक समय-समय पर स्कूलों का भ्रमण करेंगे। जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी राहुल पंवार ने बताया कि विभाग का समावेश शिक्षा पर विशेष फोकस है। इसमें दिव्यांग छात्रों को भी शिक्षा की मुख्यधारा से जोड़ा जा रहा है। परिषदीय स्कूलों में लगातार दिव्यांग छात्रों की संख्या बढ़ रही है। पढ़ाई के साथ उनके लिए दूसरी सुविधाएं भी विकसित की जा रही है।


This website uses cookies or similar technologies to enhance your browsing experience and provide personalized recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.