नोएडा [कुंदन तिवारी]। राहुल-प्रियंका से कांग्रेस में फर्क नहीं पड़ रहा है, उत्तर प्रदेश का चुनाव तो दूर की बात है। पहले भी कई बार प्रियंका गांधी वाड्रा ने चुनावी दौरा उत्तर प्रदेश में शुरू किया है। मुझे याद है कि तीन बार वह चुनावी दौरा बीच में रद कर वापस लौट गई थीं। मुझे इस बात से वह अवगत करा दें कि वह इस बार वह चुनावी दौरा रद नहीं की जाएंगी। यह जवाब उत्तर प्रदेश के कैबिनेट मंत्री सिद्धार्थ नाथ सिंह ने उस सवाल पर दिया, जिसमें उनसे पूछा गया कि उत्तर प्रदेश में विधानसभा चुनाव होने वाले है। इसको लेकर दो अक्टूबर से कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा अपना चुनावी दौरा शुरू करने जा रही है। इसको आप किस तरह से देखते है।

ओवैसी पर भी साधा निशाना

सेक्टर-62 स्थित पार्क एसेंट होटल में आयोजित एक दिवसीय एमएसएमई कंक्लेव में बतौर मुख्य अतिथि शामिल होने आए थे। एक अन्य सवाल ओवैसी पर केंद्रित था जिसमें उनसे पूछा गया कि ओवैसी लगातार प्रदेश सरकार पर निशाना साध रहे है। इस पर उन्होंने जवाब दिया कि ओवैसी जो करना चाहते है, वह सब जायज है, लेकिन संविधान इसकी इजाजत नहीं देता, लेकिन वह भूल जाते है कि जिस राज्य से वह आते हैं और जिस उत्तर प्रदेश राज्य में घुसना चाहते है, वहां की नीतियों में बहुत अंतर है। ओवैसी की नीतियां हमेशा सांप्रदायिकता को आग सुलगाने वाली होती है। वह लगातार टोपी व तिलक के बीच दरार डाल रहे हैं, लेकिन यहां की सरकार सबका साथ, सबका विकास, सबका विश्वास नीति पर काम कर रही है। बता दें कि उत्तर प्रदेश में अब चुनाव होने वाले हैं, इसके लिए भाजपा से लेकर कांग्रेस हर बड़ी छोटी पार्टी जी तोड़ मेहनत कर रही है। सभी अपने - अपने हिसाब से जनता को अपनी तरफ से साधने में लगी है।

 

Edited By: Prateek Kumar