नोएडा [लोकेश चौहान]। नोएडा प्राधिकरण ने शहर के पालतू कुत्तों और बिल्लियों को को पालने के लिए रजिस्ट्रेशन की व्यवस्था शुरू कर दी है। इसे अभी अनिवार्य नहीं किया गया है, लेकिन संभावना जताई जा रही है कि आने वाले दिनों में इसे अनिवार्य कर दिया जाएगा। रजिस्ट्रेशन के लिए बुधवार को नोएडा प्राधिकरण मुख्य कार्यपालक अधिकारी रितु माहेश्वरी ने मोबाइल एप लांच किया। इसके जरिये शहर व गांव सहित पूरे नोएडा के अधिसूचित क्षेत्र में रहने वाले लोग अपने पालतू कुत्तों और बिल्लियों का रजिस्ट्रेशन करा सकेंगे। अभी यह एप सिर्फ एंड्राइड फोन यूजर के लिए शुरू किया गया है। अक्टूबर मध्य तक इसे आइओएस मोबाइल यूजर के लिए चालू किया जाएगा। प्राधिकरण का यह एप प्ले स्टोर पर उपलब्ध है। पालतू कुत्तों और बिल्लियों का रजिस्ट्रेशन करने के बाद एप पर ही पालतू जानवर का रजिस्ट्रेशन लेटर और उसे पालने वाले की जानकारी मिलेगी। एप लांच किए जाने के मौके पर एसीईओ प्रवीण मिश्रा, ओएसडी डॉ. अविनाश त्रिपाठी, ओएसडी इंदु प्रकाश सिंह व अविनाश त्रिपाठी आदि मौजूद रहे।

एक वर्ष की फीस एक हजार रुपये

प्राधिकरण ने नोएडा पेट रजिस्ट्रेशन एप पर एक साल की रजिस्ट्रेशन फीस एक हजार रुपये निर्धारित की है। पालतू कुत्तों और बिल्लियों के मालिकों को प्रत्येक वर्ष रजिस्ट्रेशन रिन्यू करना होगा। लोगों की सहूलियत को ध्यान में रखते हुए प्राधिकरण ने यह एप शुरू किया है।

पिछले साल से प्राधिकरण कर रहा प्रोजेक्ट पर काम

प्राधिकरण पिछले वर्ष से इस प्रोजेक्ट पर काम कर रहा था। प्राधिकरण ने इसके लिए एक एजेंसी को चुनने का फैसला भी किया था। इस एजेंसी को शहर के प्रत्येक पालतू कुत्तों और जानवरों का रजिस्ट्रेशन करने के लिए सर्वे का कार्य करना था। एजेंसी के चयन के लिए प्राधिकरण ने दो बार टेंडर जारी किया, लेकिन किसी भी कंपनी का चयन न होने के कारण प्राधिकरण ने खुद एक एजेंसी से इस मोबाइल एप को विकसित कराया है।

प्ले स्टोर पर उपलब्ध है एप

प्राधिकरण का यह एप गूगल प्ले स्टोर पर नोएडा अथार्टी पैट रजिस्ट्रेशन के नाम से आ चुका है। एप को डाउनलोड करने के बाद वहां पर न्यू रजिस्ट्रेशन का विकल्प दिखेगा। इस पर क्लिक करने के बाद मालिक को मोबाइल नंबर और नाम दर्ज कराना होगा। इसके बाद ओटीपी के जरिये आगे बढ़ना होगा। आगे अपने पालतू कुत्तों और जानवरों की जानकारी एप पर देना होगा। पालतू कुत्तों और जानवरों की जानकारी और उनकी पहचान के लिए उनका फोटो भी अपलोड करना होगा। इसके अलावा कुत्ते की ब्रीड, आयु, नर या मादा सहित कई और जानकारी देनी होगी। इसके बाद रजिस्ट्रेशन फीस जमा करनी होगी।

सेक्टर 137 में प्राधिकरण तैयार कर रहा डॉग पार्क

प्राधिकरण मुख्य कार्यपालक अधिकारी रितु माहेश्वरी ने बताया कि प्राधिकरण पैट लवर्स की सुविधा के लिए जल्द ही पीपीपी माडल पर सेक्टर 137 में डाग पार्क विकसित करेगा। इसके लिए प्राधिकरण ने कुछ समय पहले करीब दो करोड़ 65 लाख रुपये का टेंडर भी जारी किया था। यह टेंडर कुछ दिनों में खोल दिया जाएगा। इस पार्क में डाग के लिए कई सुविधाएं होगी। डाग के खेलने, खाने-पानी और ट्रेनिंग की व्यवस्था होगी। साथ ही इस पार्क में मालिकों के बैठने के लिए पवेलियन भी बनवाए जाएंगे।

Edited By: Prateek Kumar