Move to Jagran APP

ग्रेटर नोएडा में सात बहनों के इकलौते भाई की पीट-पीट कर निर्मम हत्या, प्राइवेट पार्ट पर भी चोटों के निशान

गौतम बुद्ध नगर जिले के दनकौर थाना इलाके ( Dankaur Crime) में एक युवक की पीट-पीट कर हत्या कर दी गई। मृतक अपनी सात बहनों का इकलौता भाई था। पीड़ित के स्वजन की मानें तो धोखे से बुलाकर उसके साथ मारपीट की गई। आज सुबह उसके शव का अंतिम संस्कार किया गया। पुलिस ने इस मामले में तीन लोगों को गिरफ्तार किया है।

By Jagran News Edited By: Monu Kumar Jha Wed, 10 Jul 2024 11:17 AM (IST)
Noida Crime: सात बहनों के इकलौते भाई की पीट-पीट कर ले ली जान।

 संवाद सहयोगी, दनकौर। दनकौर कोतवाली क्षेत्र के एक गांव में मंगलवार की शाम बीए प्रथम वर्ष के छात्र की पीट पीटकर निर्मम हत्या करने का मामला सामने आया है। मृतक युवक अपनी सात बहनों का इकलौता भाई था जोकि परिवार में सबसे छोटा था। बारहवीं कक्षा की पढ़ाई कर बीए प्रथम वर्ष में दाखिला लिया था।

पुलिस ने तीन आरोपियों को किया गिरफ्तार

पीड़ित स्वजन का आरोप है कि एक किशोरी के स्वजन ने धोखे से बुलाकर उसकी पिटाई कर दी। मृतक के प्राइवेट पार्ट पर भी चोटों के अधिक निशान पाये गये। पुलिस का कहना है कि मृतक के शव का पोस्टमार्टम करा तीन आरोपितों को गिरफ्तार किया गया है। बुधवार की सुबह मृतक के शव का अंतिम संस्कार कर दिया गया है।

मृतक कॉलेज में बीए प्रथम वर्ष का था विद्यार्थी

मिली जानकारी के अनुसार असतौली गांव का रहने वाला कमल (20 वर्ष) अपनी सात बहनों का इकलौता भाई था। बचपन में ही बीमारी के कारण उसके पिता की मौत हो गई थी। बहनों और मां ने ही उसका पालनपोषण किया था। बारहवीं कक्षा की पढ़ाई कर उसने बिलासपुर के एक कॉलेज में बीए प्रथम वर्ष में दाखिला लिया था।

पीड़ित स्वजन का कहना है कि क्षेत्र के एक गांव की युवती द्वारा फोन पर मैसेज कर उसे मिलने के लिए बुलाया था। जैसे ही वह अपने दोस्त जितेंद्र के साथ बाइक पर सवार होकर वहां पहुंचा तो युवती के स्वजनों व अन्य लोगों ने उन्हें बंधक बना लिया। इस दौरान दोनों युवकों की निर्मम तरीके से पिटाई की गई।

पीड़ित के स्वजनों ने किसी तरह आरोपियों के चंगुल से छुड़ाया

बताया जाता है कि मृतक कमल के प्राइवेट पार्ट पर अधिक चोट पहुंचाई गई। साथ ही शरीर के अन्य हिस्सों पर भी गम्भीर गुम चोटें पहुंचाई गईं। सूचना के बाद पीड़ित स्वजन भी मौके पर पहुंचे और आरोपितों के चंगुल से दोनों को छुड़ाकर दनकौर कोतवाली ले गए।

पुलिस द्वारा घायलों को उपचार के लिए ग्रेटर नोएडा के एक निजी अस्पताल में भर्ती कराया गया जहां इलाज ले दौरान कमल की मौत हो गई। जबकि उसके साथी जितेंद्र की हालत नाजुक बनी हुई है। पोस्टमार्टम के बाद पीड़ित स्वजन द्वारा बुधवार की सुबह शव का अंतिम संस्कार कर दिया गया है।

घटना के बाद से ही परिवार में मातम पसरा हुआ है। मृतक की बहनों और मां का रो रोकर बुरा हाल है। कोतवाली प्रभारी मुनेंद्र सिंह का कहना है की शिकायत के आधार पर केस दर्ज कर तीन नामजद आरोपितों को गिरफ्तार किया गया है। अन्य आरोपितों की तलाश के लिए टीम में गठित की गई है।

यह भी पढ़ें: लखनऊ-आगरा एक्सप्रेसवे पर भीषण हादसे में 18 लोगों की मौत, पीएम मोदी-राष्ट्रपति मुर्मु ने जताया दुख; मुआवजे का एलान