नोएडा, जागरण संवाददाता। संभावित तीसरी लहर के मद्देनजर शासन गंभीर है। शासन ने देश के महाराष्ट्र समेत कोरोना प्रभावित नौ राज्यों से आने वाले लोगों पर स्वास्थ्य विभाग को नजर रखने के आदेश दिए हैं। विभाग ने भी आरडब्ल्यूए, निगरानी समिति, रेलवे व एयरपोर्ट अथार्टी को अलर्ट कर दिया है। उत्तर प्रदेश में प्रवेश करने के लिए लोगों को तीन दिन पहले की आरटी-पीसीआर नेगेटिव रिपोर्ट व फाइनल टीकाकरण सर्टिफिकेट दिखाना जरूरी होगा।

गौतमबुद्धनगर के मुख्य चिकित्साधिकारी डॉ. सुनील कुमार शर्मा ने बताया कि इस समय महाराष्ट्र मणिपुर, सिक्किम, मिजोरम, केरल, मेघालय, नागालैंड, अरुणाचल प्रदेश, त्रिपुरा में कोरोना के नए मामलों में वृद्धि हो रही है। तीसरी लहर की संभावना जताते हुए स्वास्थ्य विभाग अलर्ट हो गया है। कोरोना के मामले में गौतमबुद्ध नगर प्रदेश के अति संवेदनशील जिलों में शुमार है। ऐसे में एक से 15 अगस्त के बीच आने वाले लोगों के लिए तीन दिन पहले की आरटी-पीसीआर नेगेटिव रिपोर्ट व फाइनल टीकाकरण सर्टिफिकेट होने का नियम लागू किया गया है। यदि कोई व्यक्ति नेगेटिव रिपोर्ट और टीकाकरण सर्टिफिकेट के बिना आता है तो तत्काल जांच कर 14 दिन के लिए क्वारंटाइन किया जाएगा। सेक्टर-सोसायटी में आने वाले लोगों की सूचना देने के लिए आरडब्ल्यूए व ग्रामीण इलाकों के लिए निगरानी समिति को अलर्ट किया गया है।

उत्तर प्रदेश में सर्वाधिक जिले में आठ नए संक्रमित

बृहस्पतिवार को प्रदेश में सर्वाधिक कोरोना के आठ नए मामले गौतमबुद्ध नगर में मिले, जबकि मात्र एक संक्रमित ही स्वस्थ हो सका। अब जिले में कुल संक्रमितों का आंकड़ा 63 हजार 205 हो गया है, इनमें 62 हजार 702 स्वस्थ हो चुके है, जबकि अबतक 466 की मौत हो चुकी है।

10,221 लोगों को लगा कोरोनारोधी टीका

जिले में बृहस्पतिवार को 42 केंद्रों पर 10,221 लोगों को कोरोनारोधी टीका लगा। इनमें 18 वर्ष से अधिक उम्र के 7,334 लोगों को पहली और 2,337 लोगों ने दूसरी डोज लेकर खुद को सुरक्षित कर लिया है।

Edited By: Jp Yadav