ग्रेटर नोएडा, जागरण संवाददाता। शासन के आदेश पर जिला प्रशासन ने मंगलवार को हेलीकाप्टर हादसे में मारे गए जनरल बिपिन रावत की दो बेटियों को 50 लाख की आर्थिक सहायता आरटीजीएस के माध्यम से भेज दी। बिपिन रावत की एक बेटी नोएडा और दूसरी मुंबई में रहती है। दोनों के अकाउंट में 25-25 लाख की सहायता राशि भेजी गई है।

पिछले वर्ष आठ दिसंबर को तमिलनाडु के कुन्नूर के पास हेलीकाप्टर दुर्घटना हुई थी। घटना में जनरल बिपिन रावत, उनकी पत्नी और 11 अन्य सैनिकों की मौत हो गई थी। घटना में घायल एक अन्य जवान की मौत कुछ दिन बाद हो गई थी। घटना के बाद प्रदेश सरकार ने जनरल बिपिन रावत की दोनों बेटियों को 50 लाख रुपये की सहायता राशि देने की घोषणा की थी।

बिपिन रावत का मकान नोएडा के सेक्टर-37 अरुण विहार में है। जहां पर उनकी छोटी बेटी तारिणी रावत रहती हैं। जबकि बड़ी बेटी कृतिका रावत मुंबई में रहती हैं। अपर जिलाधिकारी डा. नितिन मदान ने बताया कि आर्थिक सहायता के लिए शासन ने पचास लाख रुपये स्वीकृत किए थे। दोनों के खाते में राशि भेज दी गई है।

मेरठ मंडल के दो हजार विद्यार्थियों को मुख्यमंत्री देंगे टैबलेट व स्मार्ट फोन

वहीं, प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ गौतमबुद्ध विश्वविद्यालय में होने वाले कार्यक्रम में मेरठ मंडल के अंतर्गत आने वाले छह जिले के दो हजार छात्रों को टैबलेट व स्मार्ट फोन देंगे। कार्यक्रम को लेकर जिला प्रशासन व पुलिस ने तैयारियां तेज कर दी हैं। तीनों प्राधिकरण की कुछ योजनाओं का भी मुख्यमंत्री लोकार्पण व शिलान्यास करेंगे। देर शाम तक जिला प्रशासन को मुख्यमंत्री का विस्तृत कार्यक्रम प्राप्त नहीं हुआ है।

प्रदेश सरकार ने उच्च शिक्षा प्राप्त करने वाले छात्रों को टैबलेट व स्मार्ट फोन देने का निर्णय लिया था। योजना के तहत पिछले वर्ष 25 दिसंबर को लखनऊ में आयोजित कार्यक्रम में मुख्यमंत्री ने हजारों छात्रों को योजना का लाभ दिया था। टैबलेट व स्मार्ट फोन वितरण का दूसरा कार्यक्रम छह जनवरी को गौतमबुद्ध विवि के ऑडिटोरियम में प्रस्तावित है। योजना के तहत यहां पर होने वाले कार्यक्रम में मेरठ मंडल के छह जिले गौतमबुद्ध नगर, गाजियाबाद, बुलंदशहर, हापुड़ , बागपत व मेरठ के दो हजार छात्रों को योजना का लाभ मिलेगा।

Edited By: Mangal Yadav