Move to Jagran APP

किसानों ने ग्रेटर नोएडा प्राधिकरण का किया घेराव, अफसरों को जगाने के लिए भैंस लेकर पहुंचे कार्यालय

विभिन्न किसान संगठनों ने आज मंगलवार को अपनी मांगों को लेकर ग्रेटर नोएडा प्राधिकरण Greater Noida Authority कार्यालय का घेराव किया है। इस दौरान कुछ किसान प्राधिकरण को जगाने के लिए प्रदर्शन के दौरान अपनी भैंस लेकर कार्यालय पहुंचे।

By Jagran NewsEdited By: Abhishek TiwariPublished: Tue, 07 Feb 2023 03:33 PM (IST)Updated: Tue, 07 Feb 2023 03:33 PM (IST)
किसान संगठनों ने ग्रेटर नोएडा प्राधिकरण का किया घेराव, अफसरों को जगाने के लिए भैंस लेकर पहुंचे कार्यालय

ग्रेटर नोएडा, जागरण संवाददाता। कई महीनों से लीजबैक के प्रकरण, आबादी निस्तारण, नए भूमि अधिग्रहण कानून की मांग को लेकर ग्रेटर नोएडा प्राधिकरण की जिद से नाराज कई गांवों के किसानों का गुस्सा मंगलवार को फूट पड़ा।

loksabha election banner

40 के करीब गांवों और विभिन्न किसान संगठनों से जुड़े किसान ग्रेटर नोएडा प्राधिकरण के घेराव को पहुंच गए। पशुओं को प्राधिकरण के गेट पर बांध दिया और जमकर नारे लगाए। भैंस के आगे प्रतिकात्मक बीन बजाकर प्राधिकरण को जागने के लिए कहा। किसानों को शांत बनाए रखने के लिए काफी संख्या में पुलिस फोर्स मौजूद रही।

बैरिकेडिंग के जरिये प्राधिकरण में प्रवेश को रोका गया। करीब दो घंटे बाद प्राधिकरण सीईओ रितु माहेश्वरी ने किसानों को बैठक के लिए बुलाया। सभी गांवों और संगठनों के दो-दो सदस्यों के कुल 60 किसानों के प्रतिनिधिमंडल ने अधिकारियों से करीब दो घंटे वार्ता की। इसमें कई मांगों पर सहमति बनी, जिसके बाद किसानों ने धरना समाप्त कर एक सप्ताह तक इंतजार करने का निर्णय लिया।

मंगलवार सुबह करीब 11 बजे किसानों का प्राधिकरण पर पहुंचना शुरू हो गया। दोपहर एक बजे तक सभी संगठन व गांवों के किसान प्राधिकरण के घेराव को पहुंच गए। प्राधिकरण पर वादाखिलाफी और अधिकारियों पर मनमानी का आरोप लगाते हुए किसानों ने जमकर नारेबाजी की।

करीब दो घंटे बाद बैठक को बुलाया गया, जिसमें निर्णय हुआ कि सुनवाई के लिए लंबित आबादी प्रकरण, आबादी शिफ्टिंग के प्रकरण, निस्तारित आबादी प्रकरणों के संदर्भ में जारी धारा 10 के नोटिस वापस लिए जाएंगे व तोड़फोड़ की कार्रवाई उक्त सभी प्रकरणों के निस्तारण तक रोकी जाएगी, लंबित आबादी प्रकरणों की सुनवाई तुरंत शुरू की जाएगी, अतिरिक्त मुआवजा वितरण के लिए राशि जल्द जारी की जाएगी, छह प्रतिशत भूखंडों में ऊंचाई 15 मीटर की जाएगी, रोजगार एवं 10 प्रतिशत भूखंड एवं ज्ञापन में उल्लेखित सभी प्रकरणों पर परीक्षण कर आगे बातचीत करते हुए निस्तारण किया जाएगा। 

बैठक में एसीईओ आनंद वर्धन, एसीईओ अमनदीप डुली, एडीसीपी विशाल पांडे समेत अन्य अधिकारी मौजूद रहे। महापंचायत में सपा के राष्ट्रीय प्रवक्ता राजकुमार भाटी, भाकियू अंबावता के प्रदेश अध्यक्ष डा. विकास प्रधान, बृजेश भाटी, राष्ट्रीय प्रवक्ता लोकेश भाटी, कृष्ण नागर प्रदेश महासचिव, आलोक नगर मीडिया प्रभारी, आल इंडिया किसान सभा के संयोजक वीर सिंह नगर, अध्यक्ष नरेंद्र भाटी, बिजेंद्र नागर, उपाध्यक्ष ब्रह्मपाल सूबेदार, सचिव अजय पाल, विनोद प्रधान, जय जवान जय किसान मोर्चा से राजवीर, सुनील फौजी, आजाद समाज पार्टी से रविंद्र भाटी अवध सिंह, सीटू से गंगेश्वर, पुष्पेंद्र त्यागी, समाजवादी पार्टी के पूर्व अध्यक्ष इंदर प्रधान, सुशील नागर, बेरोजगार सभा से राजेंद्र प्रधान, विजयपाल भाटी, सुखबीर खलीफा आदि मौजूद रहे।


Jagran.com अब whatsapp चैनल पर भी उपलब्ध है। आज ही फॉलो करें और पाएं महत्वपूर्ण खबरेंWhatsApp चैनल से जुड़ें
This website uses cookies or similar technologies to enhance your browsing experience and provide personalized recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.