नोएडा, एएनआइ। Coronavirus : कोरोना वायरस के बढ़ते प्रभाव और खतरे के मद्देनजर दिल्ली से सटे नोएडा और ग्रेटर नोएडा में 22 सोसायटी/सेक्टर और कॉलोनी को सील किया गया है। यह वे इलाके हैं, जो कोरोना वायरस फैलने के हॉट स्पॉट बन चुके हैं। बुधवार रात 12 बजे से सीलिंग के बाद इन 22 इलाकों में सख्ती बढ़ा दी गई है, इन स्थानों पर न तो किसी को बाहर जाने दिया जा रहा और न ही अंदर आने दिया जा रहा है। इस सबके बीच स्वास्थ्यकर्मियों को बड़ी दिक्कत आ रही है।

दरअसल, नोएडा सेक्टर-28 स्थित वरुण विहार सोसायटी सील है और इसके चलते यहां पर रह रहे डॉक्टरों को भी अपने काम पर नहीं जाने दिया जा रहा है। यहां पर रह रहे डॉ. नितिन घोंघे का कहना है कि वह दिल्ली के सरिता विहार स्थित अपोलो अस्पताल में अपनी सेवाएं देते हैं। ऐसे वह अपने अस्पताल में जाकर मरीजों का इलाज करना चाहते हैं, लेकिन सोसायटी सील होने के कारण हमें जाने नहीं दिया जा रहा है। वहीं, एक अन्य डॉक्टर संचिता दुबे का कहना है कि वह नोएडा के ही अपोलो अस्पताल में ही कार्यरत हैं। यहां के रेजिडेंट वेलफेयर से जुड़े पदाधिकारियों का कहना है कि गेट की चाभी पुलिस के पास है, जब 112 पर कॉल किया गया तो किसी ने फोन नहीं उठाया।

वहीं, नवीन ओखला औद्योगिक विकास प्राधिकरण (new Okhla Industrial authority) की सीईओ रितु माहेश्वरी का कहना है कि हमारी ओर से पूरे नोएडा शहर में सैनिटेशन का काम किया जा रहा है। इसके लिए ड्रोन के जरिये स्प्रे किया जा रहा है। साथ ही उन्होंने लोगों से घरों में रहने की अपील की है और कहा है कि पैनिक न करें।

नोएडा सीईओ रितु माहेश्वरी के मुताबिक, सील इलाकों में सब्जी, दूध, फल के अलावा अन्य जरूरी चीजों की आपूर्ति की पूरी व्यवस्था की जा रही है।

Posted By: JP Yadav

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस