नई दिल्ली/नोएडा [धर्मेंद्र चंदेल]। आगामी विधानसभा चुनाव को देखते हुए भाजपा गुर्जरों समुदाय को साधने की तैयारी में जुट गई है। पश्चिमी उत्तर प्रदेश के अलीगढ़ में मंगलवार को जहां प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने राजा महेंद्र प्रताप सिंह राज्य विवि का शिलान्यास कर जाट समुदाय को साधने का कार्य किया, वहीं गुर्जरों को साधने के लिए 22 सितंबर को दादरी के मिहिर भोज पोस्ट ग्रेजुएट कालेज में गुर्जर सम्राट मिहिर भोज की प्रतिमा का अनावरण मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ करेंगे। दादरी विधायक तेजपाल नागर ने बताया कि मुख्यमंत्री 21 सितंबर की शाम को जिले में पहुंचकर गौतमबुद्ध विवि में रात्रि प्रवास करेंगे। 22 सितंबर की सुबह दस बजे कालेज में सम्राट मिहिर भोज की प्रतिमा का अनावरण करेंगे। इस कार्यक्रम के बाद मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ धौलाना रवाना होंगे।

बता दें कि पश्चिमी उत्तर प्रदेश को जाट और गुर्जर बाहुल क्षेत्र माना जाता है। किसान आंदोलन की वजह से जाट समुदाय में भाजपा के प्रति नाराजगी देखने को मिली है। अब उन्हें अपने पक्ष में करने के लिए अलीगढ़ में राजा महेंद्र प्रताप सिंह के नाम से विवि का शिलान्यास किया गया है। इसे निश्चित रूप में जाट कार्ड के रूप में देखकर चुनाव से जोड़ा जा रहा है। वहीं मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ गुर्जरों की राजधानी कहे जाने वाली दादरी में आएंगे। यहां वह मिहिर भोज पोस्ट ग्रेजुएट कालेज में गुर्जर सम्राट की प्रतिमा का अनावरण करेंगे।

ऐसे में माना जा रहा है कि पश्चिमी उत्तर प्रदेश में किसी भी मामले में भाजपा स्वयं को कमजोर होते नहीं देखना चाहती। भाजपा को मजबूत करने के लिए पश्चिमी उत्तर प्रदेश में गुर्जर और जाट समुदाय को साधने की तैयारी जोर-शोर से की जा रही है। हालांकि जाट समुदाय की नाराजगी कितनी दूर होगी और गुर्जर समुदाय का कितना समर्थन मिलेगा, यह तो आने वाला समय ही बताएगा, लेकिन वर्तमान में भाजपा कोई कोर कसर छोड़ती दिखाई नहीं दे रही है।

गौरतलब है कि जिला पंचायत चुनाव में कई गुर्जर बाहुल जिलों में अध्यक्ष पद के लिए प्रत्याशी मैदान में न उतारे जाने को लेकर गुर्जर समुदाय में भाजपा के प्रति नाराजगी देखने को मिली थी। राजनीतिक गलियारों में चर्चा है कि इसी नाराजगी को दूर करने के लिए मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने दादरी में कार्यक्रम रखा है।

पहली बार दादरी आएंगे योगी आदित्यनाथ

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने प्रदेश की कमान संभालने के बाद नोएडा व ग्रेटर नोएडा में कई बार दौरा किया है, लेकिन पिछले साढ़े चार वर्ष के कार्यकाल में वह दादरी नहीं आए हैं। दादरी में उनका यह पहला कार्यक्रम होगा। इससे पहले दादरी में मुख्यमंत्री के रूप में कल्याण सिंह, मुलायम सिंह यादव, मायावती और हेमवती नंदन बहुगुणा जन सभाएं कर चुके हैं। 

Edited By: Jp Yadav