ग्रेटर नोएडा [प्रवीण विक्रम सिंह]। गौतमबुद्धनगर जिले के भाजपा नेताओं की गुटबाजी जग जाहिर है। लंबे समय से यहां के नेता तीन गुटों में बंटे हैं। बीते 22 सितंबर को दादरी में सम्राट मिहिर भोज के प्रतिमा अनावरण के मौके पर मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की जनसभा में यह गुटबाजी और सुलग गई थी। अब बृहस्पतिवार को जेवर में एयरपोर्ट शिलान्यास मौके पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी व मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की जनसभा में भी गुटबाजी सुलगती नजर आई। पार्टी ने जनसभा में भारी भीड़ जुटाकर अपनी ताकत का एहसास तो अवश्य कराया, लेकिन गुटबाजी भविष्य के लिए खतरे की घंटी बजा रही है।

इस दौरान जनसभा में पीएम व सीएम के मंच पर पहुंचने से पहले स्थानीय जनप्रतिनिधियों को बोलने का मौका दिया गया। इस दौरान उप मुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य, केंद्रीय मंत्री संजीव बालियान व प्रोफेसर एसपी सिंह बघेल भी मंच पर मौजूद थे। स्थानीय जनप्रतिनिधि कुर्सियों पर बैठने के बजाय खड़े थे। एक तरफ प्रदेश के स्वास्थ्य मंत्री जयप्रताप सिंह के साथ राज्यसभा सदस्य सुरेंद्र नागर, नोएडा विधायक पंकज सिंह व जेवर विधायक धीरेंद्र सिंह काफी देर तक खड़े होकर बात करते रहे। वहीं, जयप्रताप सिंह के दूसरी तरफ जाने के बाद भी राज्यसभा सदस्य व दोनों विधायक एक साथ खड़े रहे।

मंच के दूसरी तरफ पूर्व केंद्रीय मंत्री डाक्टर महेश शर्मा, अलीगढ़ के सांसद सतीश गौतम, विधान परिषद सदस्य श्रीचंद शर्मा व जिला पंचायत अध्यक्ष अमित चौधरी एक साथ खड़े रहे। एक बार भी ये नेता आमने-सामने नहीं आए। सुरेंद्र नागर ने अपने संबोधन में जेवर विधायक का नाम लिया तो तालियां बजी। उधर, गौतमबुद्धनगर के सांसद महेश शर्मा व धीरेंद्र सिंह के समर्थकों के बीच नारेबाजी की होड़ नजर आई। दोनों के समर्थक अपने-अपने नेता के लिए जोर-जोर से नारेबाजी करते रहे।

इस सब के बीच विधायक तेजपाल नागर, विधान परिषद सदस्य नरेंद्र भाटी पूरे समय मंच पर अपनी कुर्सी पर शांत मुद्रा में बैठे रहे। उन्होंने इस दौरान बहुत कम लोगों से बात की। जानकारों का कहना है कि यह गुटबाजी नहीं थमी तो चुनाव में यह घातक साबित हो सकती है।

वहीं, प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने करीब 29 मिनट जनसभा को संबोधित किया। संबोधन समाप्त कर वह जाने लगे तो मुख्यमंत्री व उप मुख्यमंत्री ने आगे बढ़कर उनका अभिवादन किया। इसके बाद प्रधानमंत्री ने नोएडा विधायक पंकज सिंह से बात करते हुए उनकी पीठ थपथपाई। इस दौरान राज्यसभा सदस्य सुरेंद्र नागर सामने आए। काफी देर तक प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने सुरेंद्र नागर से बात की। इस बीच अन्य नेता पीएम के चारों तरफ खड़े रहे। सांसद डा. महेश शर्मा से भी प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने गुफ्तगू की। महेश शर्मा से बात करने के बाद विधान परिषद सदस्य श्रीचंद शर्मा ने प्रधानमंत्री से आगे बढ़कर बात की। वहां मौजूद अन्य नेताओं से भी प्रधानमंत्री ने कुछ देर बातचीत की। बताया गया कि पीएम ने नेताओं को आगामी विधानसभा चुनाव के लिए कुछ गुरुमंत्र दिए।

Edited By: Jp Yadav