Move to Jagran APP

नोएडा में 20 मिनट लिफ्ट में फंसे 10 लोग, बच्ची की बिगड़ी तबीयत

नोएडा के सेक्टर 75 स्थित अपैक्स एथेना सोसायटी में शनिवार रात सवा 11 बजे बिजली गुल होने पर सी टावर की सर्विस लिफ्ट में चार साल की बच्ची समेत दस लोग फंस गए। काफी देर तक लिफ्ट नहीं खुलने पर सांस लेने में दिक्कत होने के चलते बच्ची को दिक्कत हुई। घटना के दौरान सोसायटी में कोई तकनीशियन मौजूद नहीं था।

By Jagran NewsEdited By: Abhishek Tiwari Published: Mon, 20 May 2024 07:16 AM (IST)Updated: Mon, 20 May 2024 07:16 AM (IST)
नोएडा में 20 मिनट लिफ्ट में फंसे 10 लोग, बच्ची की बिगड़ी तबीयत (File Photo)

जागरण संवाददाता, नोएडा। सेक्टर 75 स्थित अपैक्स एथेना सोसायटी में शनिवार रात सवा 11 बजे बिजली गुल होने पर सी टावर की सर्विस लिफ्ट में चार साल की बच्ची समेत दस लोग फंस गए। काफी देर तक लिफ्ट नहीं खुलने पर सांस लेने में दिक्कत होने के चलते बच्ची को दिक्कत हुई। 20 मिनट बाद छठे फ्लोर पर लिफ्ट को खोला गया।

22वें फ्लोर पर रहने वाले रामालिंगम ने बताया कि सवा 11 बजे बेसमेंट से परिवार के साथ अपने फ्लैट में जा रहे थे। बेसमेंट (माइनस वन) से सर्विस लिफ्ट ली थी। लिफ्ट के उनके परिवार के चार सदस्यों के अलावा पांच बड़े व एक बच्ची समेत दस लोग थे।

छठे और सातवें फ्लोर के बीच जाकर लिफ्ट रूक गई। थोड़ी देर इंतजार करने के बाद भी लिफ्ट चालू नहीं हुई तो 11 बजकर 20 मिनट पर मेंटीनेस आफिस काफी कॉल करने पर स्टाफ ने कॉल रिसीव की लेकिन तेजी से मदद के लिए कोई नहीं आया। थोड़ी देर बाद एक स्टाफ आया, लेकिन वह सीधे 25वें मंजिल पर गया और लिफ्ट को डाउन कर उन तक पहुंचा। उसके बाद छठे फ्लोर पर लिफ्ट का मैनुअली गेट खोलकर सभी को बाहर निकाला गया।

घुटने लगा था दम

लिफ्ट में फंसे 23वें फ्लोर पर रहने वाले मनोज शुक्ला ने बताया कि लिफ्ट फंसने के साथ पंखा भी बंद हो गया था। थोड़ी देर बाद ही सभी को परेशानी होने लगी। मदद मांगने के साथ हाथ से हवा कर राहत पाने का प्रयास किया, लेकिन इसी बीच बच्ची को सांस लेने में समस्या होने लगी तो उसने रोना शुरू कर दिया।

इससे बड़ों को भी दिक्कत महसूस हुई। गर्मी के कारण सभी लोग पसीनों में नहा गए। लिफ्ट के अंदर अंधेरा होने से भी ज्यादा घबराहट होने लगी। अंदर से दोनों गेटों को खोलने का प्रयास किया गया।

ओटिस की लिफ्ट, देखरेख कोन कंपनी

मनोज शुक्ला ने बताया कि घटना के दौरान सोसायटी में कोई तकनीशियन मौजूद नहीं था। इस कारण लिफ्ट को खोलने में भी देरी हुई। लिफ्ट के अंदर लगे वाकी टाकी ने भी काम नहीं किया।

लिफ्ट के इआरडी सिस्टम के काम नहीं करने से भी इस तरह की दिक्कत होती है। ओटिस कंपनी के लिफ्ट की देखरेख का जिम्मा कोन एलीवेटर इंडिया प्राइवेट कंपनी के पास है। कंंपनी के पास सितंबर 2023 से 26 सितंबर 2024 तक देखरेख का ठेका है।

बिल्डर और वेलफेयर ने झाड़ा पल्ला

एथेना वेलफेयर सोसायटी अध्यक्ष सुशांत यादव ने बताया कि बिजली गुल होने पर दो में से एक डीजीसेट नहीं चलने से दिक्कत हुई। वहीं उन्होंने बताया कि सोसायटी में एओए नहीं बनी है और ना ही हैंडओवर है। बिल्डर ही रखरखाव शुल्क ले रहा है और उसी के स्तर से रखरखाव कराया जा रहा है।

वहीं अपैक्स बिल्डकोम एथेना प्राइवेट लिमिटेड के निदेशक संदीप बत्रा ने बताया कि दो साल पहले सोसायटी हैंडओवर हो चुकी है और सोसायटी में पंजीकृत एओए है। लिफ्ट देखरेख कंपनी को मेल कर अवगत कराया जाएगा।


This website uses cookies or similar technologies to enhance your browsing experience and provide personalized recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.