जागरण संवाददाता, ग्रेटर नोएडा : जेवर कोतवाली पुलिस ने एक अंतरराज्यीय वाहन चोर गिरोह का पर्दाफाश किया है। खास बात है कि बदमाश यूपी-हरियाणा बार्डर पर वाहन चुराते थे। आरोपितों के कब्जे से 21 मोटरसाइकिल बरामद की गई है। बदमाश हरियाणा के फरीदाबाद व यूपी के अलीगढ़, जेवर में चोरी की वारदात को अंजाम देते थे। गिरोह में कई अन्य बदमाश शामिल हैं, फरार बदमाशों की तलाश जारी है।

डीसीपी ग्रेटर नोएडा राजेश कुमार सिंह ने बताया कि पकड़े गए बदमाशों की पहचान नितिन निवासी खुर्जा देहात बुलंदशहर, बबलू निवासी जेवर, राहुल निवासी दयानतपुर और राज भारती निवासी रामपुर बांगर जेवर के रूप में हुई है। पूछताछ में बदमाशों ने पुलिस को बताया कि वह अंतरराज्यीय वाहन चोर गिरोह के सदस्य हैं। डीसीपी ने बताया कि यह गिरोह हरियाणा-यूपी के विभिन्न जनपदों में मोटरसाइकिल चोरी की वारदात को अंजाम दे रहा था। पुलिस ने इनकी निशानदेही पर चोरी की 21 मोटरसाइकिलें बरामद की हैं। इनमें से दस मोटरसाइकिल अलीगढ़, दो फरीदाबाद व अन्य मोटरसाइकिल जेवर से चोरी की थी। पुलिस ने बृहस्पतिवार शाम बदमाशों को कोर्ट में पेश किया, वहां से चारों को जेल भेज दिया गया। इस वजह से बार्डर पर करते थे वारदात

पुलिस ने बताया कि बदमाशों ने बार्डर पर चोरी करने के लिए एक विशेष योजना बनाई थी। बदमाश जब यूपी के बार्डर से मोटरसाइकिल चुराते थे तो उसे हरियाणा ले जाकर ठिकाने लगा देते थे। जब हरियाणा से चोरी करते थे तो यूपी बार्डर के अंदर आ जाते थे। आरोपित मोटरसाइकिल चोरी करने के लिए मास्टर चाबी का इस्तेमाल करते थे। बदमाशों का एक साथी बबलू जेवर कस्बे में मोटर मैकेनिक की दुकान चलाता है। बबलू गिरोह के अन्य सदस्यों को चोरी की मोटरसाइकिल बेचने के लिए उसकी तस्वीर नंबर प्लेट बदलकर वाट्सएप पर भेज देता था।

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप

budget2021