जागरण संवाददाता, ग्रेटर नोएडा : उत्तर प्रदेश भू-संपदा विनियामक प्राधिकरण (यूपी रेरा) के कंसीलेशन फोरम में बुधवार को बिल्डर और खरीदारों के बीच बैठक हुई। कंसीलेशन फोरम के कंसीलेटर आरडी पालीवाल ने बैठक की अध्यक्षता कर मामलों की सुनवाई की। दोनों पक्षों के बीच मध्यस्ता करा कंसीलेशन फोरम विभिन्न बिल्डरों से जुड़े 11 मामलों में समझौता कराने में कामयाब रहा। हालांकि चार मामलों में विकल्प तलाश कर निस्तारित किए जाने व कंसीलेशन फोरम ने एक मामले को रेरा कोर्ट रेफर कर दिया है। बुधवार को सुपरटेक बिल्डर के 10, एपीवी एक, जयप्रकाश का एक, गौरसंस का एक, अजनारा का एक, स्ट्रेटेजिक डवल्पर्स का एक, महागुन का एक मामला सुना गया। कंसीलेशन फोरम के कंसीलेटर आरडी पालिवाल ने सभी मामलों में खरीदारों की बिल्डर से समझौता कराने की कोशिश की। रेरा कंसीलेशन फोरम में खरीदार सुनवाई के दौरान अजनारा बिल्डर के मामले की सुनवाई करते हुए सहमति न बनने पर कोर्ट को रेफर कर दिया, जबकि सुपरटेक के सात, एपीवी रियलटी लिमिटेड, गौर संस, महागुन व स्ट्रेटेजिक डेवल्पर्स के एक-एक मामले में सुनवाई पूरी कर सुलह के आधार पर समझौता करा दिया। जबकि सुपरटेक के तीन व जयप्रकाश के एक मामले में विकल्प तलाश कर निस्तारित किए जाएंगे। खरीदारों की पैरवी नेफोमा टीम के अध्यक्ष अन्नू खान, रश्मि पांडेय, विकास आदि ने की।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस