संवाद सहयोगी, दादरी : दादरी कोतवाली क्षेत्र के गढ़ी गांव निवासी सपा नेता रामटेक कटारिया की एक सप्ताह पहले गोली मारकर हत्या कर दी गई थी। घटना के हत्यारोपियों की गिरफ्तारी न होने से नाराज उसके परिजन व ग्रामीणों ने बृहस्पतिवार को दादरी के पुलिस क्षेत्राधिकारी कार्यालय का घेराव किया और आरोपितों की गिरफ्तारी की मांग की। पुलिस क्षेत्राधिकारी ने घटना का शीघ्र पर्दाफाश करने का आश्वासन दिया तो लोग शांत होकर घर लौट गए। जाते-जाते ग्रामीणों ने चेतावनी दी कि यदि दस जून तक हत्यारोपितों की गिरफ्तारी नहीं हुई तो वह कोतवाली में धरने पर बैठेंगे और उच्चाधिकारियों से मामले की शिकायत करेंगे।

ज्ञात हो कि दादरी-जारचा रोड स्थित गढ़ी गांव के मंदिर के पास सपा नेता रामटेक कटारिया परिवार के साथ रहते थे और ट्रांसपोर्ट का काम करते थे। 31 मई को वह पैदल ही घर से कुछ दूर स्थित कार्यालय जा रहे थे, तभी बिसाहड़ा गांव की तरफ से आ रही ऑल्टो कार में सवार पांच बदमाशों ने उनके ऊपर अंधाधुंध गोली चला दी थी। छह गोलियां रामटेक कटारिया के मुंह, सिर व शरीर के अन्य हिस्सों पर लगने से वह जमीन पर लहूलुहान होकर गिर पड़े थे। परिजन ने उन्हें दादरी के एक निजी अस्पताल में भर्ती कराया जहां डॉक्टरों ने उनकी हालत को देखते हुए गाजियाबाद के एक निजी अस्पताल के लिए रैफर कर दिया, लेकिन अस्पताल पहुंचने से पूर्व रास्ते में उनकी मौत हो गई थी। मृतक के भाई प्रवीण ने छह लोगों के खिलाफ मामला दर्ज कराया था। बृहस्पतिवार दोपहर एक बजे सैकड़ों लोग दादरी कोतवाली पहुंचे और रामटेक कटारिया के हत्यारोपितों की गिरफ्तारी की मांग को लेकर नारेबाजी करते हुए सीओ दादरी कार्यालय का घेराव किया। पीड़ित परिजन रमन भाटी ने पुलिस पर आरोप लगाया कि सभी आरोपित नामजद हैं फिर भी पुलिस एक सप्ताह में एक भी आरोपित को गिरफ्तार नहीं कर सकी है। उन्होंने चेतावनी दी कि दस जून को रामटेक कटारिया की तेरहवीं है, इससे पहले यदि आरोपितों की गिरफ्तारी नहीं हुई तो दादरी कोतवाली का घेराव किया जाएगा। घेराव करने वालों में नितेश भाटी, सुदेश भाटी, सुशील, जयवती, मीनू, रेखा, कोमल समेत सैकड़ों लोग शामिल रहे।

लोकसभा चुनाव और क्रिकेट से संबंधित अपडेट पाने के लिए डाउनलोड करें जागरण एप

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस