जेएनएन, मुजफ्फरनगर। मोरना के बिहारगढ़ स्थित सिद्धपीठ प्राचीन मां काली मंदिर पर शारदीय नवरात्र की नवमी पर विशेष पूजा, हवन-यज्ञ कराने वाले श्रद्धालुओं का तांता लगा रहा। भोकरहेड़ी व ककरौली, बेहड़ा सादात में देवी मंदिर पर श्रद्धालुओं ने पूजा-अर्चना की।

सिद्धपीठ प्राचीन मां काली मंदिर बिहारगढ़ पर पंडित विजय कुमार तिवारी ने हवन-यज्ञ संपन्न कराया, जिसमें दूरदराज से आए श्रद्धालुओं ने भाग लिया। जिला पंचायत अध्यक्ष डा. वीरपाल निर्वाल व उनकी पत्नी लक्ष्मी निर्वाल ने भी सुख-समृद्धि की कामना के लिए मंत्रोच्चारण के बीच हवन-यज्ञ में आहुति दी। यज्ञ के बाद भंडारे का भी आयोजन हुआ, जिसमें आसपास के गांवों से आए श्रद्धालुओं ने प्रसाद ग्रहण किया। कार्यक्रम में भाजपा सांस्कृतिक प्रकोष्ठ के रामकुमार शर्मा, क्षेत्रीय चौहान सभा के ओमपाल चौहान, पूर्व प्रधान बुद्ध सिंह, मेघना बालियान, हर्ष बालियान, वैभव निर्वाल, मानसी, नीरज, प्रिया निर्वाल,प्रदीप निर्वाल,आशीष निर्वाल, भाजपा मंडल अध्यक्ष डा. वीरपाल सहरावत, रवींद्र कुमार, संजय प्रधान, संजय कोरी, संजू डायरेक्टर, नीटू सहरावत, राजकुमार व विजय राठी आदि उपस्थित रहे।

मां भगवती के भजनों पर झूमे श्रद्धालु

जेएनएन, मुजफ्फरनगर। बुढ़ाना कस्बे की मास्टर कालोनी में मां भगवती का जागरण आयोजित हुआ, जिसमें श्रद्धालु भजनों पर पूरी रात झूमते रहे। सुबह प्रसाद का वितरण किया गया।

जागरण का शुभारंभ भाजपा नेता नितिन मलिक एवं पूर्व चेयरमैन जीतेंद्र त्यागी ने दीप प्रज्वलित कर किया। मोनिका, पाखी, आशी, तनु, मीनू आदि ने मां भगवती की नारियल, चुनरी, फल, बतासे से पूजा की। भजन गायक रामकुमार लक्खा, प्रमोद अजमेरिया आदि ने सुंदर प्रस्तुति देकर समां बांध दिया। कलाकारों ने राधा-कृष्ण, सुदामा, काली मां एवं दुर्गा की भव्य झांकियां प्रस्तुत कर श्रद्धालुओं को मंत्रमुग्ध कर दिया। धार्मिक दृष्टांतों का भी चित्रण किया गया। इस अवसर पर भाजपा जिला महामंत्री विनीत कात्यायन, मुकेश उकावली, पंकज चौधरी, अर्चित, प्रशांत शर्मा, बंटी गौतम व सागर चौधरी आदि मौजूद रहे।

कन्याओं को भोजन कराकर दिए उपहार

जेएनएन, मुजफ्फरनगर। शाहपुर नगर व क्षेत्र में एक सप्ताह तक उपवास रखकर पूजा-अर्चना करने वाले महिला-पुरुष श्रद्धालुओं ने गुरुवार को घरों में छोटी कन्याओं को भोजन कराकर उपहार भेंट किए।

नवरात्र में मां दुर्गा के नौ अवतारों की उपासना करने के साथ व्रत रखने वाले श्रद्धालुओं ने रामनवमी पर कन्याओं को भोजन कराकर उपवास समाप्त किये। इस दौरान मंदिरों को भी सजाया गया तथा विशेष पूजा-अर्चना की गई। कन्याओं को भोजन कराने के बाद उन्हें उपहार देकर उन्हें देवी अवतार मानकर चरण स्पर्श किये तथा लुभावने उपहार भी दिए। श्रद्धालुओं ने कोरोना संक्रमण को देखते हुए बालिकाओं को मास्क भी भेंट किए।

Edited By: Jagran