मुजफ्फरनगर, जेएनएन। बुढ़ाना क्षेत्र में लगने जा रही पशु पैठ के विरोध में सोमवार को कलक्ट्रेट में धरना दिया गया। जिला पंचायत अधिकारियों एवं कर्मचारियों पर पशु तस्करों से सांठगांठ कर लाइसेंस जारी करने का आरोप लगाते हुए लाइसेंस को निरस्तीकरण की मांग की गई। इस संबंध में ज्ञापन डीएम के साथ मुख्यमंत्री को भी भेजा गया।

गांव मलिकपुरा निवासी रविद्र सिंह ने अपने साथियों के साथ बुढ़ाना में पशु पैठ लगाए जाने का विरोध किया। कलक्ट्रेट में धरने के दौरान उन्होंने डीएम सेल्वा कुमारी जे. और उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के नाम ज्ञापन भेजा। ज्ञापन में जिला पंचायत कार्यालय के अधिकारी और कर्मचारियों पर आरोप लगाया गया कि उन्होंने पशु तस्करों से मिलीभगत का बुढ़ाना क्षेत्र के लिए पशु पैठ का लाइसेंस जारी किया है। उन्होंने सीएम को अवगत कराया कि उत्तर प्रदेश गौवंश नीतियों के विरुद्ध गौवध और अवैध कटान करने में बुढ़ाना क्षेत्र काफी बदनाम है। इस प्रकार के अधिकतर मामले भी बुढ़ाना थाने में दर्ज है। उन्होंने कहा कि बुढ़ाना में फिर से पशु पैठ लगाई जा रही है, जिस कारण वहां अवैध कटान की आशंका होने लगी है। धरना देकर उन्होंने मांग की है कि बुढ़ाना पशु पैंठ का लाइसेंस तुरंत निरस्त किया जाए तथा जिन अधिकारियों व कर्मचारियों की लाइसेंस जारी करने में भूमिका रही है। उनकी जांच कर सख्त कार्रवाई की जाए।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप