मुजफ्फरनगर, जेएनएन। पासपोर्ट जांच के नाम पर अवैध धन उगाही पर पूरी तरह से अंकुश लगाने के लिए एसएसपी ने 'सुशासन सेवा अभियान' की शुरुआत की है। किसी भी अनुचित मांग व पुलिस दु‌र्व्यवहार की शिकायत पर सीधे एसएसपी से शिकायत की जा सकेगी। इसके लिए बाकायदा एक मोबाइल नंबर भी जारी किया गया है, जो 'सिगल विडो सिस्टम' की तरह काम करेगा। शिकायत करने वाले का नाम गोपनीय रखा जाएगा।

एसएसपी अभिषेक यादव ने रिजर्व पुलिस लाइन में प्रेस वार्ता कर बताया कि पुलिस विभाग के अनेक कार्यों में एक महत्वपूर्ण कार्य है शासन की दी गई सुविधाओं में उच्च स्तरीय सेवा प्रदान करना। उन्होंने बताया कि आवश्यक है कि आवेदक को पासपोर्ट आवेदन करने से पुलिस वेरिफिकेशन समाप्त होने तक उच्च स्तरीय सेवा जनपदीय पुलिस द्वारा प्रदान की जाए एवं उस दौरान उसे किसी प्रकार की परेशानी अथवा अनुचित समस्या का सामना न करना पड़े। परेशानी पर करें 9690112112 पर शिकायत

एसएसपी ने बताया कि यदि पासपोर्ट वेरिफिकेशन की संपूर्ण प्रक्रिया में आवेदक को किसी परेशानी अथवा अनुचित मांग का सामना करना पड़ता है, तो वह अपनी समस्या 9690112112 पर फोन काल, मैसेज, वाट्सएप करके बता सकता है। बताया कि यह नंबर मुजफ्फरनगर में पासपोर्ट के समस्त आवेदकों के लिए 'सिगल विडो सिस्टम' की तरह काम करेगा। कोई भी समस्या होने पर वह वरिष्ठ पुलिस अधिकारियों तक अपनी बात पहुंचा सकता है। किसी भी थाने या पुलिस चौकी जाने की आवश्यकता नहीं। किसी भी शिकायत पर होगी कड़ी कार्रवाई

एसएसपी ने बताया कि जनपद के पुलिस कर्मियों को भी अभियान के संबंध में निर्देशित कर दिया गया है। निर्देशित किया गया है कि वह आवेदक से उचित व्यवहार करें व उनकी हर संभव मदद करें। चेतावनी दी कि किसी प्रकार के दु‌र्व्यवहार अथवा अनुचित मांग की सत्यता पाए जाने पर उनके विरुद्ध कठोरतम कार्रवाई की जाएगी। अन्य सेवा भी आएगी अभियान के दायरे में

एसएसपी ने बताया कि फिलहाल सुशासन सेवा अभियान की शुरुआत पासपोर्ट वेरीफिकेशन के मामले की जा रही है। बताया कि आमतौर से अधिकतर नागरिक पोसपोर्ट के मामले में ही पुलिस वेरिकेशिन की सुविधा ग्रहण करता है। बावजूद ठेकेदारी लाइसेंस में चरित्र प्रमाण पत्र बनाने सहित विभिन्न मामलों में वेरीफिकेशन आवश्यक होता है। धीरे-धीरे इन सेवाओं के दौरान आने वाली परेशानियों को भी सुशासन सेवा अभियान के दायरे में लाया जाएगा। 'पारदर्शी दक्ष समयबद्ध' रहेगा सेवा का सूत्र

एसएसपी ने बताया कि पुलिस विभाग की छवि सुधारने के लिए पासपोर्ट जांच समयबद्ध तरीके से की जाएगी। जो पूर्ण पारदर्शी होगी और पूरी दक्षता यानी त्रुटिहीन होगी। बताया कि इसलिए ही जांच कार्य का मूल सूत्र 'पारदर्शी-दक्ष-समयबद्ध' रहेगा।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस