जेएनएन, मुजफ्फरनगर। जेवर में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने मंचासीन केंद्रीय राज्यमंत्री डा. संजीव बालियान को विशेष तवज्जो दी। जनता का अभिवादन के दौरान मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ, उप मुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य के साथ डा. बालियान शामिल रहे। इससे सियासी हलकों में उनका कद और बढ़ गया है। इसे आगामी विधानसभा चुनाव से जोड़कर देखा जा रहा है।

केंद्रीय राज्यमंत्री डा. संजीव बालियान भाजपा में जाट चेहरे के रूप में उभरे हैं। वेस्ट यूपी के साथ ही देश की राजनीति गतिविधियों में उनकी भागीदारी रही। पश्चिमी बंगाल के विधानसभा चुनाव में स्टार प्रचारक की भूमिका में रहे। डा. बालियान की कार्यशैली से भाजपाई हाईकमान बेहद खुश है। हाल में 15 दिन चली सांसद खेल स्पर्धा से वह सुर्खियों में रहे। सियासी हलकों में इस बात की चर्चा है कि विधानसभा चुनाव को देखते हुए विधायक को सक्रिय होना चाहिए था, लेकिन उनसे कहीं आगे केंद्रीय राज्यमंत्री हैं। इससे पूर्व डा. बालियान ने लोकसभा में वेस्ट यूपी में हाईकोर्ट की बैंच और जनसंख्या नियंत्रण बिल की मांग प्रमुखता से की थी। सहारनपुर तक रेलवे ट्रैक का दोहरीकरण, पानीपत-खटीमा राष्ट्रीय राजमार्ग, मेरठ-करनाल मार्ग समेत कई अहम कार्यो को हरी झंडी दिलाने का श्रेय भी केंद्रीय राज्यमंत्री को जाता है।

डा. बालियान की सक्रियता और कार्यशैली के चलते जेवर में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने उन्हें तवज्जो दी। प्रधानमंत्री ने शुरूआती उद्बोधन में पांचवें नंबर पर बालियान का नाम लिया।

भाजपा पश्चिमी उप्र अध्यक्ष से मिले सफाई कर्मचारी नेता

जेएनएन, मुजफ्फरनगर। खतौली नगरपालिका सफाई कर्मचारी यूनियन के पदाधिकारियों व सदस्यों ने भाजपा के पश्चिमी उप्र अध्यक्ष मोहित बेनीवाल से मिलकर समस्याएं बताई। पदाधिकारियों ने कहा कि नगर निकायों में वर्षो से तैनात संविदा सफाईकर्मियों को नियमित किया जाए। भाजपा पश्चिमी उप्र अध्यक्ष ने सभी मांगों पर विचार कर जल्द समाधान निकालने का आश्वासन दिया।

मंसूरपुर क्षेत्र स्थित एक रेस्टारेंट पर गुरुवार को भाजपा के पश्चिमी उप्र के अध्यक्ष मोहित बेनीवाल से सफाई कर्मचारी यूनियन के पदाधिकारियों के प्रतिनिधिमंडल ने मुलाकात की। सफाई कर्मचारियों ने पगड़ी पहनाकर मोहित बेनीवाल का स्वागत किया। यूनियन के पदाधिकारी दीपक चंद्रा ने बताया कि नगर निकायों में संविदा कर्मचारियों को कार्य करते हुए वर्षो बीत गए हैं, लेकिन पूर्ण सुविधा नहीं मिलती है। इन्हें नियमित किए जाने की मांग उठाई गई। स्थानीय निकाय नियमित कर्मचारियों के लिए पर्याप्त संसाधन नहीं हैं। सेवानिवृत्त होने पर एरियर, फंड आदि की समस्या अधिक रहती है। स्थानीय निकाय की समस्याओं से अवगत कराया। भाजपा पश्चिमी उप्र के अध्यक्ष ने जल्द ही समाधान कराने का आश्वासन दिया है। इस दौरान राकेश वाल्मीकि, जुगल किशोर वाल्मीकि, अजय प्रताप वाल्मीकि, भूपेंद्र वाल्मीकि, सुधीर कुमार वाल्मीकि व सूरज आदि मौजूद रहे।

Edited By: Jagran